धान का कटोरा

मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय बगिया पहुंचे

रायपुर। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय आज जशपुर जिले के प्रवास के दौरान अपने गृह ग्राम बगिया पहुंचे। वे ग्राम बन्दरचुंआ में जशपुर नगर पालिका के अध्यक्ष स्वर्गीय श्री नरेश चंद्र साय के दशगात्र कार्यक्रम में शामिल होंगे।
और भी

छत्तीसगढ़ के क्रिकेटरों के लिए बड़े प्लेटफॉर्म्स में खेलने का मौका खोलेगा सीसीपीएल : अरुण साव

  • सीसीपीएल का फाइनल देखने पहुंचे उप मुख्यमंत्री
रायपुर। उप मुख्यमंत्री श्री अरुण साव रविवार की शाम नवा रायपुर के शहीद वीरनारायण सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में छत्तीसगढ़ क्रिकेट प्रीमियर लीग (सीसीपीएल) का फाइनल मुकाबला देखने पहुंचे। छत्तीसगढ़ में पहली बार आयोजित इस लीग का फाइनल मैच रायपुर रायनोस और बिलासपुर बुल्स के बीच खेला गया, जिसमें रायपुर रायनोस की टीम चैंपियन बनी। उप मुख्यमंत्री श्री साव के स्टेडियम पहुंचने पर दर्शकों ने तालियां बजाकर उनका स्वागत किया। श्री साव ने हाथ हिलाकर वहां मौजूद दर्शकों का अभिवादन किया।
उप मुख्यमंत्री श्री साव ने सीसीपीएल के फाइनल मुकाबले में कहा कि यह आयोजन किसी भी मायने में आईपीएल से कम नहीं है। इसमें खिलाड़ियों को अपनी प्रतिभा दिखाने का अच्छा मौका मिल रहा है। इससे निश्चित ही छत्तीसगढ़ से नई प्रतिभाएं सामने आएंगी। श्री साव ने कहा कि फाइनल मुकाबला देखने के लिए 20 हजार से ज्यादा दर्शक पहुंचे हुए हैं। यह लीग और राज्य के खिलाड़ियों के प्रति उनके अपार प्रेम को दर्शाता है।
श्री साव ने कहा कि छत्तीसगढ़ के खिलाड़ी श्री शशांक सिंह ने हाल ही में समाप्त हुए आईपीएल में अपने खेल से खूब धूम मचाई थी। उन्होंने उम्मीद जताई कि सीसीपीएल छत्तीसगढ़ के खिलाड़ियों के लिए आईपीएल जैसे बड़े प्लेटफॉर्म्स में खेलने का रास्ता खोलेगा। इससे राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदेश का नाम रोशन होगा। सीसीपीएल के निर्देशक श्री बलदेव सिंह भाटिया और श्री विजय शाह, गर्वनिंग काउंसिल के चैयरमैन श्री प्रमोद शंकर शर्मा, छत्तीसगढ़ राज्य क्रिकेट संघ के अध्यक्ष श्री जुबिन शाह और सचिव श्री मुकुल तिवारी भी इस दौरान मौजूद थे।
और भी

बलौदाबाजार हिंसा मामला : जिले में बढ़ी धारा 144 की अवधि

  • जांच के लिए पहुंची भाजपा दल के नेता ने दिया यह बड़ा बयान
बलौदाबाजार. छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार जिले में 10 जून 2024 को संयुक्त जिला कार्यालय परिसर में हुई हिंसक घटना के बाद लागू की गई धारा 144 की अवधि एक बार फिर बढ़ा दी गई है. अब यह धारा आज शाम 4 बजे से 20 जून की रात्रि 12 बजे तक प्रभावी रहेगी.
बता दें, कलेक्टर और एसपी की बैठक में नागरिकों ने धारा 144 को बढ़ाने की मांग की थी, जिसके बाद सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए सीमा क्षेत्र में शांति-व्यवस्था बनाए रखने के लिए कलेक्टर दीपक सोनी ने धारा 144 की अवधि को 20 जून की मध्य रात्रि तक बढ़ाने का आदेश जारी किया है.
खाद्य मंत्री दयाल दास बघेल ने कांग्रेस को लेकर दिया बड़ा बयान-
वहीं हिंसा घटना मामले की जांच करने पहुंची भाजपा दल में शामिल खाद्य मंत्री दयाल दास बघेल ने कांग्रेस को लेकर बड़ा बयान दिया है. मंत्री दयाल दास बघेल ने कांग्रेस पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा, कि कांग्रेस समाज को भड़काने और उकसाने का काम कर रही है.
उन्होंने दावा किया कि बलौदाबाजार हिंसा में समाज को भड़काने का षड्यंत्र कांग्रेस का ही था. इसके साथ ही, 15000 लोगों के खाने की व्यवस्था भी कांग्रेस ने ही की थी. मंत्री दयाल दास बघेल ने सवाल उठाते हुए कहा, “देवेंद्र यादव क्या सतनामी है?”
जानिए धारा 144 बढ़ाने के आदेश के प्रमुख बिंदु-
नगर पालिका बलौदाबाजार सीमा क्षेत्र में आगामी आदेश तक रैली या जुलूस पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा.
अन्य जिले अथवा बाहरी व्यक्तियों का 5 या उससे अधिक व्यक्तियों के समूह का प्रवेश बलौदाबाजार में प्रतिबंधित रहेगा.
कोई भी व्यक्ति शस्त्र, तलवार, फरसा, भाला, लाठी, चाकू, छुरा, कुल्हाड़ी, गुप्ती, त्रिशूल, खुकरी, सांग एवं बल्लम या अन्य अस्त्र-शस्त्र लेकर सार्वजनिक स्थान पर नहीं निकलेगा.
अपवाद स्वरूप शासकीय कर्तव्य पर रहने वाले व्यक्ति ड्यूटी के दौरान अस्त्र-शस्त्र धारण कर सकेंगे.
ऐसे वृद्ध एवं दिव्यांग जो लाठी के बिना चलने में असमर्थ हैं, वे लाठी का प्रयोग कर सकेंगे.
और भी

मानसून की एंट्री के बाद से कई जिलों में छाए हुए है बादल

  • मौसम विभाग ने दी भारी बारिश की चेतावनी
रायपुर। छत्तीसगढ़ में मानसून की एंट्री के बाद से मौसम में बदलाव देखने को मिल तो रहा है, लेकिन बारिश नहीं हो रही है। बता दें शनिवार रात से ही राजधानी रायपुर समेत प्रदेश के कई जिलों में बदल छाए हुए हैं और आंधी-तूफान चल रहा हैं। कई जगहों पर हल्की बारिश भी हुई है।
वहीं मौसम विभाग ने प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश होने का अनुमान जताया है। मौसम विभाग ने कहा कि, बस्तर संभाग में भारी बारिश हो सकती है। भारी बारिश की चेतावनी देते हुए मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग ने प्रदेश के कई जिलों में आज तेज आंधी-तूफ़ान के साथ भारी बारिश होने की संभावना जताई है।
रायपुर समेत इन जिलों के लिए अलर्ट जारी-
मौसम विभाग ने छत्तीसगढ़ के कुछ इलाकों में गरज चमक के साथ बारिश की संभावना जताई है। राजधानी रायपुर की बात करें तो यहां आज भी सुबह से बादल छाए हुए हैं। मौसम विभाग ने रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर और बस्तर संभाग के जिलों में बारिश का अलर्ट जारी किया है। आने वाले 24 घंटे में प्रदेश के तापमान में बदलाव देखने को मिलेगा। रायपुर, बस्तर, बिलासपुर और दुर्ग संभाग में आने वाले 2 दिनों के लिए अलर्ट जारी किया गया है। वहीं बस्तर संभाग के लिए भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। इस बार मानसून के समय से पहले पहुंचने पर प्रदेश में औसत से ज्यादा बारिश होने की उम्मीद जताई जा रही है।
और भी

छत्तीसगढ़ से गुजरने वाली 50 ट्रेनें फिर कैंसिल

बिलासपुर। विकास कार्यों का हवाला देकर रेलवे ने छत्तीसगढ़ से गुजरने वाली 50 ट्रेनों को फिर कैंसिल कर दिया गया है. ये गाड़ियां 19 जून से 10 जुलाई तक अलग-अलग दिनों में नहीं चलेंगी. इसकी वजह से कोलकाता, बिहार, दिल्ली, पंजाब, राजस्थान, मध्य प्रदेश जाने वाले यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा.
रेलवे प्रशासन के मुताबिक, पश्चिम मध्य रेलवे के भोपाल मंडल और दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बिलासपुर मंडल में डेवलपमेंट के कार्य के चलते गाडिय़ों का परिचालन कैंसिल किया है. भोपाल रेल मंडल के मालखेड़ी-महादेवखेड़ी रेलवे स्टेशनों को दूसरी रेल लाइन से जोडऩे का कार्य किया जा रहा है. यह काम 16 जून से 10 जुलाई तक चलेगा.
29 जून एवं 06 जुलाई को उदयपुर से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 20971 उयदपुर-शालीमार एक्सप्रेस रद्द रहेगी. 30 जून एवं 07 जुलाई को शालीमार से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 20972 शालीमार- उयदपुर एक्सप्रेस रद्द रहेगी. 16, 23, 30 जून एवं 07 जुलाई को बीकानेर से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 20471 बीकानेर-पूरी एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की रद्द होने वाली गाडिय़ां-
19, 26 जून एवं 03, 10 जुलाई को पूरी से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 20472 पूरी- बीकानेर एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
29 जून एवं 06 जुलाई को शालीमार से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 22830 शालीमार- भुज एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
02 एवं 09 जुलाई को भुज से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 22829 भुज-शालीमार एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
27 जून एवं 04 जुलाई को विशाखापटनम से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 18573 विशाखापटनम-भगत की कोठी एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
29 जून एवं 06 जुलाई को भगत की कोठी से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 18574 भगत की कोठी-विशाखापटनम एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
05, 06 एवं 09 जुलाई को विशाखापटनम से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 20807 विशाखापटनम-अमृतसर एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
06, 07 एवं 10 जुलाई को अमृतसर से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 20808 अमृतसर-भगत की कोठी एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
14, 21 एवं 28 जून को पूरी से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 08475 पूरी-निज़ामुद्दीन स्पेशल ट्रेन रद्द रहेगी.
15, 22 एवं 29 जून को निज़ामुद्दीन से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 08476 निज़ामुद्दीन-पूरी स्पेशल ट्रेन रद्द रहेगी.
14 जून से 09 जुलाई तक बिलासपुर से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 18236 बिलासपुर –भोपाल एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
16 जून से 11 जुलाई तक भोपाल से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 18235 भोपाल- बिलासपुर एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
01 एवं 08 जुलाई को दुर्ग से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 18207 दुर्ग-अजमेर एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
02 एवं 09 जुलाई को अजमेर से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 18208 अजमेर-दुर्ग एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
30 जून एवं 07 जुलाई को दुर्ग से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 18213 दुर्ग-अजमेर एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
01 एवं 08 जुलाई को अजमेर से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 18214 अजमेर-दुर्ग एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
09 जुलाई को दुर्ग से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 12549 दुर्ग-शहीद कैप्टन तुषार महाजन (ऊधमपुर) एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
11 जुलाई को शहीद कैप्टन तुषार महाजन (ऊधमपुर) से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 12450 शहीद कैप्टन तुषार महाजन (ऊधमपुर)-दुर्ग एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
03 जुलाई को दुर्ग से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 20847 दुर्ग-शहीद कैप्टन तुषार महाजन (ऊधमपुर) एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
05 जुलाई को शहीद कैप्टन तुषार महाजन (ऊधमपुर) से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 20848 शहीद कैप्टन तुषार महाजन (ऊधमपुर)-दुर्ग एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
05 एवं 09 जुलाई को दुर्ग से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 22867 दुर्ग-निज़ामुद्दीन एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
06 एवं 10 जुलाई को निज़ामुद्दीन से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 22868 निज़ामुद्दीन-दुर्ग एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
09 जुलाई को निज़ामुद्दीन से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 22408 निज़ामुद्दीन-अम्बिकापुर एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
11 जुलाई को अम्बिकापुर से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 22407 अम्बिकापुर- निज़ामुद्दीन एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
03 एवं 10 जुलाई को रानी कमलापति से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 22169 रानी कमलापति-सांतरागाछी एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
04 एवं 11 जुलाई को सांतरागाछी से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 22170 सांतरागाछी रानी कमलापति- एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
परिवर्तित मार्ग से चलने वाली गाड़ियां-
06 एवं 08 जुलाई को दुर्ग से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 12823 दुर्ग-निज़ामुद्दीन संपर्क क्रांति एक्सप्रेस परिवर्तित मार्ग न्यू कटनी–कटनी-ओहन केबिन-वीरांगना लक्ष्मीबाई झाँसी जंक्शन होकर चलेगी.
05, 07 एवं 09 जुलाई को निज़ामुद्दीन से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 12824 निज़ामुद्दीन- दुर्ग संपर्क क्रांति एक्सप्रेस परिवर्तित मार्ग––वीरांगना लक्ष्मीबाई झाँसी जंक्शन-ओहन केबिन- कटनी- न्यू कटनी होकर चलेगी.
इसी तरह दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बिलासपुर रेल मंडल के कोतरलिया रेलवे स्टेशन को राष्ट्रीय ताप विद्युत निगम तलाईपल्ली माइंस लाइन से जोड़ने का कार्य किया जाएगा. यह नॉन इंटरलॉकिंग का कार्य 22 से 30 जून तक किया जा रहा है.
इस कार्य के चलते रद्द होने वाली गाड़ियां-
25 से 30 जून तक रायगढ़ से चलने वाली 08737 रायगढ़-बिलासपुर मेमू पैसेंजर स्पेशल रद्द रहेगी.
2.25 से 30 जून तक बिलासपुर से चलने वाली 08738 बिलासपुर-रायगढ़ मेमू पैसेंजर स्पेशल रद्द रहेगी.
24 से 29 जून तक बिलासपुर से चलने वाली 08736 बिलासपुर-रायगढ़ मेमू पैसेंजर स्पेशल रद्द रहेगी.
25 से 30 जून तक रायगढ़ से चलने वाली 08735 रायगढ़-बिलासपुर मेमू पैसेंजर स्पेशल रद्द रहेगी.
24 से 29 जून तक टाटानगर से चलने वाली 18113 टाटानगर-बिलासपुर एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
25 से 30 जून तक बिलासपुर से चलने वाली 18114 बिलासपुर-टाटानगर एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
25 से 30 जून तक टाटानगर से चलने वाली 18109 टाटानगर-नेता सुभाष चंद्र बोस (इतवारी) एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
25 से 30 जून तक नेता सुभाष चंद्र बोस (इतवारी) से चलने वाली 18110 सुभाष चंद्र बोस (इतवारी) -टाटानगर एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
26 जून को संतरागाछी से चलने वाली 20828 संतरागाछी-जबलपुर एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
27 जून को जबलपुर से चलने वाली 20827 जबलपुर-संतरागाछी एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
25 एवं 29 जून को सिकंदराबाद से चलने वाली 17007 सिकंदराबाद-दरभंगा एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
28 जून एवं 02 जुलाई को दरभंगा से चलने वाली 17008 दरभंगा-सिकंदराबाद एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
29 जून को संतरागाछी से चलने वाली 20822 संतरागाछी-पुणे एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
01 जुलाई को पुणे से चलने वाली 20821 पुणे-संतरागाछी-पुणे एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
24 एवं 27 जून को भुवनेश्वर से चलने वाली 12880 भुवनेश्वर-कुर्ला एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
26 एवं 29 जून को कुर्ला से चलने वाली 12879 कुर्ला-भुवनेश्वर एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
28 जून को बिलासपुर से चलने वाली 22843 बिलासपुर-पटना एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
30 जून को पटना से चलने वाली 22844 पटना-बिलासपुर एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
25 से 30 जून तक हावड़ा से चलने वाली 12130 हावड़ा-पुणे आजाद हिन्द एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
27 जून से 02 जुलाई तक पुणे से चलने वाली 12129 पुणे-हावड़ा आजाद हिन्द एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
24, 25, 28 एवं 29 जून को एलटीटी से चलने वाली 12101 एलटीटी-शालीमार सुपर डिलेक्स एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
26, 27, 30 जून एवं 01 जुलाई तक शालीमार से चलने वाली 12102 शालीमार – एलटीटी सुपर डिलेक्स एक्सप्रेस रद्द रहेगी.
बीच समाप्त होने वाली गाड़ी-
25 से 30 जून तक गोंदिया एवं झारसुगुड़ा से चलने वाली 08861/ 08862 गोंदिया-झारसुगुड़ा-गोंदिया मेमू पैसेंजर स्पेशल बिलासपुर एवं झारसुगुड़ा के बीच रद्द रहेगी.
देरी से रवाना होने वाली गाड़ियां-
24 एवं 25 जून को योगनगरी ऋषिकेश से चलने वाली 18478 योगनगरी ऋषिकेश-पूरी उत्कल एक्सप्रेस 03 घंटे 30 मिनिट देरी से रवाना होगी.
26 जून को पूरी से चलने वाली 18477 पूरी-योगनगरी ऋषिकेश उत्कल एक्सप्रेस 03 घंटे 30 मिनिट देरी से रवाना होगी.
25 एवं 26 जून को दुर्ग से चलने वाली 13287 दुर्ग-आरा साउथ बिहार एक्सप्रेस 03 घंटे 30 मिनिट देरी से रवाना होगी.
परिवर्तित मार्ग से चलने वाली गाड़ियां-
24 से 29 जून तक हावड़ा से चलने वाली 12860 हावड़ा-मुंबई गीतांजली एक्सप्रेस परिवर्तित झारसुगुड़ा–टिटलागढ़-रायपुर होकर चलेगी.
26 जून से 01 जुलाई तक मुंबई से चलने वाली 12859 मुंबई-हावड़ा गीतांजली एक्सप्रेस परिवर्तित रायपुर- टिटलागढ़-झारसुगुड़ा होकर चलेगी.
26 जून एवं 27 जून को पोरबंदर से चलने वाली 12905 पोरबंदर-शालीमार एक्सप्रेस परिवर्तित रायपुर-टिटलागढ़- झारसुगुड़ा होकर चलेगी.
28 जून एवं 29 जून को शालीमार से चलने वाली 12906 शालीमार-पोरबंदर एक्सप्रेस परिवर्तित झारसुगुड़ा-टिटलागढ़-रायपुर होकर चलेगी.
24 जून एवं 28 जून को हटिया से चलने वाली 22846 हटिया-पुणे एक्सप्रेस परिवर्तित झारसुगुड़ा- टिटलागढ़- रायपुर होकर चलेगी.
26 एवं 30 जून को पुणे से चलने वाली 22845 पुणे-हटिया एक्सप्रेस परिवर्तित रायपुर- टिटलागढ़-झारसुगुड़ा होकर चलेगी.
और भी

बृजमोहन अग्रवाल ने कहा, विधायक पद से 18 या 19 जून को देंगे इस्तीफा

  • मंत्रिमंडल विस्तार तक बने रहेंगे मंत्री
रायपुर। लोकसभा चुनाव में रायपुर से जीतने वाले शिक्षा एवं पर्यटन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने छत्तीसगढ़ की राजनीति में हलचल मचा दी है। उन्होंने कहा है कि अभी तय करेंगे विधायक से इस्तीफा दें या सांसद से। बृजमोहन अग्रवाल ने इससे पर्दा हटाते हुए कहा कि वे विधायक पद से 18 या 19 जून को इस्तीफा देंगे। इसके बाद नियमानुसार वे 6 महीने तक मंत्री पद पर रह सकते हैं। इस पर उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जब चाहेंगे तब मंत्री पद से इस्तीफा दे दूंगा।
भाजपा के सूत्रों की मानें तो 15 जुलाई के बाद मंत्रिमंडल का विस्तार कभी भी हो सकता है। एक मंत्री का पद पहले से खाली है, विस्तार में बृजमोहन अग्रवाल से भी इस्तीफा ले लिया जाएगा। ऐसे में दो मंत्री पद भरे जाएंगे। इसको लेकर विधायकों की दौड़ भी शुरू हो गई। रविवार को प्रदेश के सहप्रभारी नतिन नबीन ने कई बैठकें ली। नबीन ने एक गोपनीय बैठक भी की, इसमें मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय, प्रदेश अध्यक्ष किरण सिंहदेव, क्षेत्रीय संगठन महामंत्री अजय जामवाल और संगठन महामंत्री पवन साय उपस्थित रहे। इस बैठक में मंत्रिमंडल को लेकर भी चर्चा हुई। मंत्रियों की परफार्मेंस में तीन की स्थिति खराब बताई जा रही है। ऐसे में मंत्रिमंडल विस्तार के दौरान दो के अलावा तीन और मंत्रियों को भी बदला जा सकता है। बृजमोहन अग्रवाल संसद के नए सत्र में शामिल होने दिल्ली जाएंगे।
मीडिया ने इस्तीफे, मंत्री पद को लेकर सवाल किए इसके जवाब बृजमोहन ने दिए। उनसे जब पूछा गया कि आप कब इस्तीफा दे रहे हैं बृजमोहन बोले- केंद्रीय नेतृत्व में सांसद का चुनाव लड़वाया है तो सोच समझकर लड़वाया है। नियम के अनुसार जब भी होगा मैं विधायक पद से इस्तीफा दूंगा। मुख्यमंत्री जी के अधिकारों में है कि वह चाहे तो किसी भी जो विधायक नहीं है, उसको भी 6 महीने तक मंत्री रख सकते हैं। ये कहकर बृजमोहन ने मंत्री पद पर बनने रहने की अपनी इच्छा जता दी।
बृजमोहन की जगह कौन होगा ?-
ये पूछे जाने पर कि आपकी जगह यहां प्रदेश में कौन होगा, दक्षिण कौन जीतेगा, बृजमोहन ने जवाब में कहा- जो आएगा वह अपना परफॉर्मेंस दिखाएगा, पांचों उंगलियां बराबर नहीं होती हैं। केंद्र में पद को लेकर कहा- अभी बहुत समय है अभी तो सरकार को बने हुए मुश्किल से 6 दिन हुए हैं अभी तो 5 साल बाकी हैं। दक्षिण विधानसभा को लेकर हा कि रायपुर की जनता और हमारे कार्यकर्ता हैं जो दक्षिण में दमदारी दिखाते हैं मैं जो कुछ भी हूं उनके दाम पर हूं।
दिल्ली में सांसद पद की शपथ लेंगे बृजमोहन अग्रवाल-
8वीं लोकसभा का पहला सत्र अगले हफ्ते यानी 24 जून से शुरू होने वाला है। यह सत्र 9 दिन यानी 3 जुलाई तक चलेगा। 26 जून से लोकसभा स्पीकर के चुनाव की प्रक्रिया शुरू होगी। ऐसी खबरें हैं कि भाजपा ओम बिड़ला को दूसरी बार स्पीकर बना सकती है, वहीं चंद्रबाबू नायडू और नीतीश कुमार स्पीकर पद मांग रही हैं। इस बीच नए सांसदों की शपथ का कार्यक्रम भी होना है। बृजमोहन अग्रवाल देश की संसद में शपथ लेंगे।
आज धरसीवां, तिल्दा-नेवरा में निकालेंगे विजय आभार रैली-
जननायक अजेय योद्धा, लाडले लोकप्रिय नेता रायपुर लोकसभा के नवनिर्वाचित सांसद, शिक्षा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल जनता से मिले अपार स्नेह आशीर्वाद से रिकॉर्ड मतों से मिली ऐतिहासिक जीत के लिए जनता के प्रति कृतज्ञता और आभार प्रगट करने के उद्देश से 17 जून सोमवार को 4 बजे धरसीवां - कूरा, 6 बजे खरोरा, 7 बजे तिल्दा - नेवरा में विजय आभार रैली मे शामिल होंगे।
विधायकों की बैठक में मेयर चुनाव प्रत्यक्ष प्रणाली से कराने पर मिला फीडबैक
प्रदेश भाजपा कार्यालय में प्रदेश प्रभारी नितिन नबीन ने लगातार बैठकें लीं। हर लोकसभा क्षेत्र में पार्टी के परफॉर्मेंस को लेकर बात की गई। इन बैठकों में सरोज पांडे नजर भी नजर आईं। वो कोरबा से लोकसभा चुनाव हार चुकी हैं। बैठक में कोरबा की गड़बडिय़ों-खामियों पर भी बड़े नेताओं ने बात की। सरोज पांडेय ने अपनी बात संगठन के नेताओं से कह दी है। माना जा रहा है कि वो कुछ स्थानीय नेताओं के अपेक्षाकृत साथ न देने की शिकायत कर चुकी हैं। इन बैठकों में प्रदेश अध्यक्ष किरण सिंह देव, महामंत्री संगठन पवन साय मौजूद रहे। संगठन के नेताओं ने सांसद दल की बैठक ली। कोर कमेटी, भाजपा विधायक दल की भी बैठक हुई है। लोकसभा क्लस्टर प्रभारियों की भी बैठक में सियासी चर्चाएं हुईं। सबसे अहम बैठक विधायकों की रही। पार्टी सूत्रों की मानें तो इस बैठक में महापौर का चुनाव प्रत्यक्ष प्रणाली से करवाने पर बात हुई। अधिकांश नेताओं ने सीधे महापौर का चुनाव करवाने का फीडबैक बड़े नेताओं को दिया है। इस बैठक में मेयर का चुनाव किस प्रणाली से कराया जाए, इस पर विधायकों से राय मांगी गई। ज्यादातर विधायकों ने प्रत्यक्ष प्रणाली से मेयर का चुनाव कराने के पक्ष में अपनी बात कही। जल्द ही भाजपा इसे लेकर समिति बना सकती है। ग्राउंड लेवल पर इस फैसले के असर का कैलकुलेशन किया जाएगा।
 
और भी

अरुण वोरा ने मुस्लिम भाइयों को ईद-उल-अजहा की दी शुभकामनाएं

दुर्ग। वरिष्ठ कांग्रेस नेता अरुण वोरा ने मुस्लिम समुदाय से मुलाकात की और उन्हें ईद-उल-अजहा के मौके पर अपनी शुभकामनाएं और बधाई दी। इस अवसर पर उनके साथ राजेंद्र साहू जी भी उपस्थित थे। अरुण वोरा ने इस पर्व के माध्यम से समाज में आपसी भाईचारा और एकता को बढ़ावा देने का संदेश दिया और उन्होंने सभी मुस्लिम भाइयों को सुख, शांति और समृद्धि की कामना की। इस मौके पर, स्थानीय मुस्लिम समुदाय ने अरुण वोरा और राजेंद्र साहू जी का स्वागत किया और उनकी शुभकामनाओं के लिए आभार व्यक्त किया।
और भी

मुख्यमंत्री साय 21 जून को राजधानी में करेंगे योगाभ्यास

  • जिला मुख्यालयों में आयोजित कार्यक्रमों के मुख्य अतिथियों की सूची जारी
रायपुर। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून 2024 के अवसर पर राजधानी रायपुर में मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय योगाभ्यास करेंगे। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता कैबिनेट मंत्री श्रीमती लक्ष्मी राजवाड़े करेंगी। उपमुख्यमंत्री अरूण साव कोरबा तथा उपमुख्यमंत्री विजय शर्मा दुर्ग जिले में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में नामांकित किए गए हैं।
बिलासपुर में केन्द्रीय संघ राज्य मंत्री तोखन साहू, कांकेर में मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, कोरिया में मंत्री रामविचार नेताम, महासमुद में मंत्री दयालदास बघेल, नारायणपुर में मंत्री केदार कश्यप, कबीरधाम में मंत्री लखनलाल देवांगन, बलौदाबाजार में मंत्री श्यामबिहारी जायसवाल, जांजगीर-चांपा में मंत्री ओ.पी.चौधरी, धमतरी में मंत्री टंकराम वर्मा, राजनांदगांव में सांसद संतोष पाण्डेय, सरगुजा में सांसद चिन्तामणी महाराज, जशपुर में सांसद राधेश्याम राठिया, सुकमा में सांसद महेश कश्यप, गरियाबंद में सांसद श्रीमती रूपकुमारी चौधरी, बेमेतरा में सांसद विजय बघेल, बालोद में सांसद भोजराज नाग, सक्ती में सांसद श्रीमती कमलेश जांगड़े, रायगढ़ में सांसद देवेन्द्र प्रताप सिंह, बस्तर में विधायक किरण देव, दंतेवाड़ा में विधायक चैतराम अटामी, बीजापुर में विधायक नीलकंठ टेकाम, कोण्डागांव में विधायक सुश्री लता उसेण्डी, मुंगेली में विधायक पुन्नुलाल मोहले, मनेन्द्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर में विधायक श्रीमती रेणुका सिंह, सूरजपुर में विधायक भूलन सिंह मराबी, बलरामपुर में विधायक श्रीमती उद्देश्वरी पैकरा, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में विधायक प्रणव कुमार मरपची, मोहला-मानपुर-अम्बागढ़ चौकी में विधायक विक्रम उसेण्डी, सारंगढ़-बिलाईगढ़ में विधायक संपत अग्रवाल, खैरागढ़-छुईखदान में विधायक श्रीमती भावना बोहरा मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित रहेंगी।
और भी

मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री घायल जवानों से मिलने पहुंचे रामकृष्ण अस्पताल

  • नक्सल मुठभेड़ में घायल जवान का हौसला बुलंद, कहा- ठीक होते ही और मारूंगा
रायपुर। नक्सलियों से मुठभेड़ में घायल एसटीएफ के जवान नक्सलियों से मुठभेड़ में घायल एसटीएफ के जवान कैलाश नेताम ने रविवार को मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय से कहा कि ठीक होते ही और मारूंगा। अस्पताल के बिस्तर में लेटे घायल जवान की इस बुलंद आवाज ने कैप्टन विक्रम बत्रा की याद दिला दी, जिन्होंने कारगिल की लड़ाई लड़ते हुए कहा था ’ये दिल मांगे मोर’।
दरअसल मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय और उपमुख्यमंत्री विजय शर्मा नारायणपुर जिले में नक्सली मुठभेड़ में घायल जवानों से मिलने राजधानी रायपुर के रामकृष्ण केयर अस्पताल पहुंचे थे।
इस दौरान मुख्यमंत्री ने घायल जवानों से उनका हालचाल जाना। मुख्यमंत्री साय उनसे जब घटना की जानकारी ले रहे थे तब एसटीएफ के घायल जवान कैलाश नेताम ने बताया कि ठीक होते ही और मारूंगा। यह सुनते ही मुख्यमंत्री गर्व से भर गए। उन्होंने कहा कि मां भारती के इन वीर जवानों से हमें हौसला मिलता है। घायल होकर भी यह जज्बा भारत के बलिदानी वीरों की परंपरा है, जिन्होंने कभी देश को झुकने नहीं दिया। एसटीएफ के एक अन्य घायल जवान लेखराम नेताम के ऑपरेशन थियेटर में होने के कारण मुख्यमंत्री उनसे मुलाकात नहीं कर पाए, लेकिन डॉक्टरों से उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली। साथ ही मुख्यमंत्री ने बीते दिनों बीजापुर में नक्सली हमले में घायल एक अन्य डीआरजी के जवान श्री लच्छु कढ़ती से भी मुलाकात कर उनका हालचाल जाना।
मुख्यमंत्री ने जवानों की हौसला अफजाई करते हुए उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की। उन्होंने डॉक्टरों को बेहतर इलाज के लिए निर्देश भी दिए। इस मौके पर विधायक मोतीलाल साहू और पुलिस महानिदेशक अशोक जुनेजा मौजूद रहे।
और भी

मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री ने शहीद जवान के पार्थिव शरीर को दिया कांधा

  • नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई तेज, जवानों की शहादत नहीं जाएगी बेकार : विष्णुदेव साय
रायपुर। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय और उपमुख्यमंत्री विजय शर्मा ने रविवार को चौथी बटालियन माना पहुंचकर गत दिवस नारायणपुर जिले में नक्सली मुठभेड़ में शहीद हुए जवान नितेश एक्का के पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री ने शहीद जवान के पार्थिव शरीर को कंधा देकर ससम्मान गृह ग्राम जशपुर जिले के चिरईडांड के लिए रवाना किया।
मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने इस मौके पर कहा कि नारायणपुर जिले के अबूझमाड़ क्षेत्र में हुए नक्सली मुठभेड़ में हमारे वीर जवान ने अपना सर्वोच्च बलिदान दिया है। हमारी सरकार बनते ही हमने नक्सलियों के खिलाफ अपनी लड़ाई तेज कर दी है और हम निर्णायक लड़ाई लड़ रहे है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी और हम क्षेत्र में शांति स्थापित करने के लिए संकल्पित है।
गौरतलब है कि एसटीएफ के शहीद आरक्षक नितेश एक्का जशपुर जिले के रहने वाले थे। पिछले 12 जून को नारायणपुर जिले के फरसबेड़ा-धुरबेड़ा क्षेत्र में डीआरजी, एसटीएफ और बीएसएफ का संयुक्त बल नक्सल विरोधी अभियान के लिए रवाना हुआ था। अभियान के दौरान 15 जून को नक्सलियों ने सुरक्षा बलों पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी और जवाबी कार्यवाही में 08 माओवादियों को मार गिराया गया। इस दौरान सुरक्षाबल के दो जवान घायल हुए और एक जवान शहीद हो गया।
इस मौके पर विधायक मोतीलाल साहू, डीजीपी अशोक जुनेजा, अपर मुख्य सचिव गृह मनोज कुमार पिंगुआ, एडीजी प्रदीप गुप्ता, हिमांशु गुप्ता, संभाग आयुक्त संजय अलंग सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारी और शहीद जवान के परिजन मौजूद थे।
और भी

CM विष्णुदेव साय ने दिव्यांग नव दंपत्तियों को दिए आशीर्वाद

  • 250 दिव्यांग जोड़े बंधे परिणय सूत्र में, आस्था बहुउद्देशीय कल्याण संस्थान का आयोजन
रायपुर। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय रविवार को अखिल भारतीय निर्धन दिव्यांग सामुहिक आदर्श विवाह समारोह में मुख्य अतिथि शामिल हुए। दुर्ग के अग्रसेन भवन में समाजसेवी संस्था आस्था बहुउद्देशीय कल्याण संस्थान द्वारा आयोजित इस सामुहि आदर्श विवाह में सभी समाज के 250 दिव्यांग जोड़े परिणय सूत्र में बंधे। समारोह में छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, उड़ीसा, झारखंड के अलावा अन्य राज्यांे के दिव्यांगजन शामिल हुए। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय एवं अन्य अतिथियों ने परिणय सूत्र में बंधे दिव्यांग नव दंपत्तियों को उनके सुखमय दाम्पत्य जीवन के लिए आशीर्वाद दिए। समारोह में लोकसभा सांसद विजय बघेल, विधायक श्री ललित चंद्राकर और नगर निगम दुर्ग के महापौर श्री धीरज बाकलीवाल भी मौजूद थे।
मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने कहा कि आस्था बहुउद्देशीय कल्याण संस्थान का यह आयोजन पुण्य का कार्य है। संस्था लगातार जनकल्याण का कार्य कर रही है। चाहे वह लावारिश लाशों को सद्गति देेने का कार्य हो, रक्तदान कार्य हो या दिव्यांगजनों का वैवाहिक कार्यक्रम हो। संस्था से जुड़े सभी पदाधिकारी पुण्य के कार्य में सहभागी हैं। मुख्यमंत्री श्री साय ने कहा कि शारीरिक रूप से विकृत लोगों को पहले विकलांग के नाम से जाना जाता था, जिसे देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने सम्मान-जनक नाम दिव्यांग दिया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार दिव्यांगजनों के लिए विभिन्न योजनाएं संचालित कर हर संभव सहयोग का प्रयास कर रही है। उन्होंने आदर्श विवाह में सम्मिलित होने पहुंचे हुए नवदम्पत्तियों के परिजनों को भी बधाई एवं शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने अपने करकमलों से आस्था बहुउद्देशीय कल्याण संस्थान के विकास में उल्लेखनीय योगदान करने वालों को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।
आस्था बहुउद्देशीय कल्याण संस्थान के संरक्षक सांसद विजय बघेल ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा कि यह संस्था विगत 19 वर्ष से दिव्यांगजनों आदर्श विवाह करते आ रही हैं। अब तक 1890 दिव्यांग जोड़े का विवाह संपन्न करायी जा चुकी है। आज यहां पर लगभग 250 से अधिक जोड़ों का विवाह कार्यक्रम संपन्न होने जा रहा है। उन्होंने बताया कि यह संस्था अब तक 1789 लावारिश लाशों को सद्गति प्रदान कर चुकी हैं। सांसद श्री बघेल ने संस्था के कार्यों को विस्तारपूर्वक रेखांकित करते हुए संस्था से जुड़े सभी लोगों कोे साधुवाद दिया। कार्यक्रम में आस्था संस्थान के अध्यक्ष प्रकाश गेडाम और संयोजक प्रहलाद गुप्ता तथा विवाह आयोजन समिति के अध्यक्ष रामफल शर्मा और संयोजक सुरेन्द्र शर्मा सहित अन्य पदाधिकारी एवं गणमान्य नागरिक तथा दिव्यांगजनों के परिजन एवं बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।
राजनांदगांव, कोरबा, जशपुर, सूरजपुर, सरगुजा जिलों से आए युवक-युवतियों ने संस्था द्वारा कराए जा रहे आदर्श सामुहिक विवाह को सराहा। विवाह करने आए नवदम्पत्तियों ने बताया कि घर की आर्थिक स्थित कमजोर होने के कारण विवाह मंे होने वाले खर्चे को वहन करने में परिवार वाले सक्षम नही थे। निःशुल्क सामूहिक आदर्श विवाह में हम बेटियों की शादी होने से घर वालों की चिंता अब दूर हो गई। उन्होंने इस विवाह के लिए राज्य सरकार और संस्था को धन्यवाद दिया। सामुहिक विवाह में युवतियों को संस्था द्वारा गृहस्थी का सामान थाली, चम्मच, गिलास, पानी टंकी, लोटा, कटोरी उपहार स्वरूप प्रदान किया गया। साथ ही मंगलसूत्र, पायल, बिछिया, साड़ी उपहार के रूप में दिया गया।
और भी

महतारी वंदन योजना : जरूरतमंद महिलाओं के लिए मुश्किल वक्त का सहारा

  • छोटी-मोटी जरूरतों के लिए अब नही पड़ रही है किसी के पास हाथ फैलाने की जरूरत
रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार की फ्लैगशिप महतारी वंदन योजना निम्न एवं मध्यम वर्ग के महिलाओं के लिए अनेक दृष्टि से लाभप्रद सिद्ध होकर मुश्किल वक्त का सहारा बन गई है। आज भी पुरुष प्रधान भारतीय समाज में महिलाओं को छोटी-बड़ी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए पुरुषों पर ही निर्भर रहना पड़ता है। आज के दौर में भी कामकाजी महिलाओं के द्वारा अपने मेहनत से किए गए अनेक कार्यों का पैसा भी उनके पिता, पति, ससुर या उनके घर के मुखिया के पास जमा होता है। लेकिन राज्य सरकार के महतारी वंदन योजना की राशि प्रतिमाह संबंधित महिला के खाते में सीधे जमा होने से यह राशि राज्य के महिलाओं के लिए बहुत ही उपयोगी साबित हो रही है।
पूरे प्रदेश की भाँति बालोद जिले में भी इस योजना का बेहतर प्रतिसाद देखने को मिल रहा है। राज्य सरकार की इस लोक कल्याणकारी योजना के माध्यम से प्रतिमाह एक हजार रूपये की राशि मिलने से जिले के ग्राम झलमला के वार्ड नंबर 08 की निवासी डिलेश्वरी के लिए आर्थिक संबलता का आधार बन गया है। इस योजना के फलस्वरूप राशि मिलने से डिलेश्वरी अपने छोटे बच्चों के लिए नियमित रूप से पौष्टिक भोज्य पदार्थों की प्रबंध करने के अलावा जरूरत पड़ने पर ईलाज एवं साबुन, सोडा इत्यादि छोटी-मोटी जरूरतों को आसानी से पूरा कर पा रही हैं। अब उन्हें अपने दैनिक आवश्यकताओं के लिए लगने वाली चीजों की पूर्ति तथा ईलाज आदि आवश्यक कार्यों के लिए अब किसी के पास हाथ फैलाने की आवश्यकता नही पड़ रही है।
उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शुरू की गई महतारी वंदन योजना हमारे जैसे अनेक गरीब एवं मध्यम वर्ग के महिलाओं के लिए हर तरह से उपयोगी सिद्ध होकर मुश्किल वक्त का सहारा बन गई है। प्रत्येक माह इस योजना की राशि उनके खाते में जमा होने से अब उसे इन चीजों का प्रबंध करने में किसी प्रकार की कठिनाई नही हो रही है। इसके अलावा वे अपने दो छोटे बच्चे कुमारी पूर्वी एवं 02 वर्षीय बालक जतिन पटेल के लिए भी आसानी से पौष्टिक खाद्य पदार्थों का प्रबंध कर पा रही हैं।
गौरतलब है कि मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय के नेतृत्व वाले छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा एक सच्चे अभिभावक की भाँति राज्य की असंख्य महिलाओं की वास्तविक पीड़ा एवं जरूरतों को समझते हुए राज्य में जो महतारी वंदन योजना लागू की गई है वह हर दृष्टि से सराहनीय एवं काबिले तारीफ है। श्रीमती डिलेश्वरी ने कहा कि राज्य सरकार के द्वारा इस योजना को लागू कर महिलाओं को आत्मनिर्भर एवं सक्षम बनाने का कार्य किया है। जिसके फलस्वरूप हम महिलाओं में आत्मनिर्भरता एवं आत्मविश्वास का संचार हुआ है। उन्होंने राज्य के महिलाओं की वास्तवित जरूरतों को समझते हुए छत्तीसगढ़ में इस अत्यंत महत्वाकंाक्षी योजना को लागू करने के लिए मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय को हृदय से धन्यवाद ज्ञापित करते हुए उनके प्रति आभार व्यक्त किया है।
और भी

सुनने की समस्या से ग्रसित थे अनेर सिंह, मुख्यमंत्री ने दिया श्रवण यंत्र

  • अनेक यात्राएं, साथ गुजारे दिन, राजदूत की सवारी और 90 के दशक के पुराने किस्से-कहानियों पर जमकर हुई बात
रायपुर। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय से रविवार को उनके रायपुर निवास में जशपुर जिले के श्री अनेर सिंह मिलने आए। इस खास मुलाकात ने मुख्यमंत्री विष्णु देव साय को अपने विधायकी और संघर्ष के दिनों की याद दिला दी। अनेक यात्राएं, अनेर सिंह के दुलदुला निवास में गुजारे दिन, राजदूत की सवारी, 90 के दशक के पुराने किस्से-कहानियां और घर-परिवार की जब बातें हुई, तो मानो सब कुछ मुख्यमंत्री के आंखों के सामने तैरने लगा। जशपुर जिले के ग्राम सिरिमकेला के रहने वाले अनेर सिंह दरअसल पिछले 15-20 सालों से कान की समस्या से ग्रसित है और उन्हें सुनने में कठिनाई होती है। धीरे-धीरे उनकी श्रवण क्षमता कम हो गई। मुख्यमंत्री श्री साय को जब यह बात पता चली, उन्होंने तत्काल अनेर सिंह को रायपुर मिलने बुलाया और स्वयं उन्हें श्रवण यंत्र प्रदान किया।
मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने अनेर सिंह से ढेर सारी बाते की, उनका हालचाल जाना और स्वास्थ्य की जानकारी भी ली। मुख्यमंत्री ने यंत्र लगाने के बाद पूछा आवाज आत हे, सुनात हे। सिंह ने जवाब दिया अब अच्छे से आवाज आ रही है और इसे चलाना भी सीख गया हूं। उन्होंने मुख्यमंत्री को पहले जैसा पाकर अपनी खुशी भी जाहिर की। मुख्यमंत्री ने कहा अपनों से मुलाकात हमेशा सुखद होता है। उन्होंने श्री सिंह से जशपुर आकर मिलने का वादा भी किया। इस दौरान कृष्ण कुमार राय और समाज कल्याण विभाग के अपर संचालक पंकज वर्मा भी उपस्थित थे।
और भी

रायपुर में केंद्रीय राज्य मंत्री तोखन साहू का हुआ भव्य स्वागत

रायपुर। बिलासपुर सांसद तोखन साहू को केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास राज्य मंत्री बनाए गए हैं. दिल्ली से लौटने के बाद साहू ने एयरपोर्ट पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा, छत्तीसगढ़ समेत पूरे देश की जनता ने नरेंद्र मोदी को तीसरी बार प्रधानमंत्री बनाया है. डबल इंजन की सरकार में छत्तीसगढ़ का तेजी से विकास होगा. हम सब मिलकर काम करेंगे. छत्तीसगढ़ व देश का गौरव बढ़ाने काम करेंगे.
तोखन साहू ने कहा, दिल्ली में सभी मंत्रियों की बैठक भी हुई है. सबका साथ सबका विकास भारतीय जनता पार्टी का मूल मंत्र है. इसी सिद्धांतों के अनुसार हम सब काम करेंगे. पिछली बार देखने को मिला था कि केंद्र सरकार छत्तीसगढ़ सरकार की मदद तो करती है, लेकिन उस अनुपात में नहीं करती है. इस बार किस तरह देखने को मिलेगा. इस सवाल पर सांसद तोखन साहू ने कहा, इस बार डबल इंजन की सरकार है. छत्तीसगढ़ का तेजी से विकास होगा, हम सब मिलकर काम करेंगे.
और भी

बीजापुर में IED और कुकर बम बरामद

बीजापुर। बीजापुर में सुरक्षा बलों ने 30-30 किलो विस्फोटक वाले सीरीज IED बम और 1 कुकर बम बरामद किया। यह जिला बल और 231 बीएन सीआरपीएफ के बम निरोधक दस्ते का संयुक्त अभियान था।
बता दें कि मुख्यमंत्री साय का माओवादी आतंक के ख़िलाफ़ कड़ा रुख़ है। माओवादियों के ख़िलाफ़ सुरक्षा बलों की मुहिम लगातार जारी है ।इसी कड़ी में आज नारायणपुर में हमारे सुरक्षा बलों ने सघन अभियान चलाकर 8 माओवादियों को मार गिराया। इस अभियान में माओवादियों का कड़ा मुक़ाबला करते हुए एसटीएफ़ का जवान शहीद हो गया और दो जवान घायल हो गये हैं। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने जवान की शहादत को नमन करते हुए अपनी श्रद्धांजलि व्यक्त की है। उन्होंने घायल जवानों के बेहतर इलाज के निर्देश दिये हैं।
और भी

राशन कार्डधारियों का ई-केवाईसी व नवीनीकरण 30 जून तक पूर्ण करने के निर्देश

रायपुर। सामान्य श्रेणी एपीएल प्राथमिकता और अंत्योदय अन्न योजना के परिवार के राशन कार्डधारियों का ई-केवाईसी और नवीनीकरण के लिए राज्य स्तरीय अधिकारियों की बैठक हुई। जिसमें सभी योजनाओं के शेष बचे हुए हितग्राहियों को 30 जून तक ई-केवाईसी व नवीनीकरण पूर्ण करने के निर्देश दिए गए है। ईकेवाईसी के लिए शेष बचे हुए हितग्राही को नजदीकी के शासकीय उचित मूल्य दुकान में अपने राशनकार्ड के सभी सदस्यों का ईकेवाईसी आवश्यक रूप से किया जाना सुनिश्चित है। तथा नवीनीकरण के लिए शेष बचे हुए राशनकार्ड धारियों को एंड्रॉयड मोबाइल फोन पर लिंक डाउनलोड कर या अपने शासकीय उचित मूल्य दुकान पहुंचकर राशनकार्ड का नवीनीकरण कराया जाना है। इस संबंध में कलेक्टर डाॅ. गौरव सिंह के निर्देश पर जिले के खाद्य नियंत्रक श्री भूपेन्द्र मिश्रा द्वारा समस्त सहायक खाद्य अधिकारीयों एवं खाद्य निरीक्षकों की बैठक लेकर समय-सीमा में शेष बचे हुए राशनकार्डधारी परिवारों का ईकेवाईसी एवं नवीनीकरण पूर्ण कराने के निर्देश दिए गए हैं।
और भी

पूर्व उप मुख्यमंत्री टीएस सिंहदेव की पत्नी बेबी राज का निधन

  • पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जताया शोक
अंबिकापुर। छत्तीसगढ़ के सरगुजा राजपरिवार की सदस्य बेबी राज (इंदिरा सिंह जी) ने लंबी बीमारी के बाद आज सुबह 8 बजे अंतिम सांसें ली। बताया जा रहा है कि छत्तीसगढ़ के पूर्व डिप्टी सीएम टीएस सिंहदेव के निवास तपस्या में बेबी राज सिंह का निधन हुआ है। जिसके बाद आज दोपहर करीब 2 बजे कोठी घर के सामने स्थित रानी तालाब में उनका अंतिम संस्कार किया जायेगा। बेबी राज के आकस्मिक निधन से राज परिवार सहित शहर में शोक का माहौल है।  इंदिरा सिंहदेव के निधन पर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शोक जताया गया है.
बता दें कि इंदिरा सिंह का जन्म दिनांक 12 अप्रैल 1950 को धरमजयगढ़ राजपरिवार में हुआ था। वह प्रदेश के पूर्व उप मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव की पत्नी थी। बताया जा रहा है कि इंदिरा सिंह का इलाज पिछले 6 महिनों से दिल्ली एवं मुम्बई के प्रमुख अस्पतालों में चल रहा था, वह कैंसर से पीड़ित थी। जिन्हें 13 जून 2024 को मुम्बई से अम्बिकापुर एयर एम्बुलेंस के माध्यम से लाया गया था। जिसके बाद आज सुबह 8 बजे अम्बिकापुर में उनका निधन हो गया है। जानकारी के मुताबिक उनका अंति संस्कार आज ही स्थानीय रानी तालाब, अम्बिकापुर में किया जायेगा।
 
और भी

बिलासपुर पुलिस ने ढूंढ निकाला 200 नग गुम हुए मोबाईल

बिलासपुर। न्यायधानी की पुलिस ने चोरी और गुम हुए 200 मोबाइल फोन की बरामदगी कर लोगों को लौटाए तो उनके चेहरे ख़ुशी से खिल उठे। जिसके बदले मोबाइल मालिकों ने पुलिस को थैंक यू कहा।
दरअसल, बिलासपुर जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रो में मोबाईल गुमने की शिकायत को गम्भीरता से लेते हुये एसपी रजनेश सिंह द्वारा गुम मोबाइल तलाश कर संबंधितो को वापस करने के निर्देश दिये है। इसी के तहत ASP (ग्रामीण/एसीसीयू) अनुज कुमार के नेतृत्व में एसीसीयू बिलासपुर के अधिकारी कर्मचारियो द्वारा खोज अभियान चलाकर छत्तीसगढ के विभिन्न जिलो सहित मध्य प्रदेश, तेलंगाना, झारखण्ड, उडीसा एवं महराष्ट्र से 200 नग मोबाइल बरामद किया। जिसे आज 15 जून को एसपी रजनेश सिंह द्वारा मोबाइल धारको को वापस किया गया है। वापस किये गये मोबाइल की कीमत लगभग 30 लाख रू. है। गुमे हुये मोबाइल वापस पाने की आस छोड चुके व्यक्तियो को जब उनका मोबाइल वापस किया गया तो वे लोग काफी खुश हुये और बिलासपुर पुलिस के इस चेतना अभियान की सराहना करते हुये एसपी सहित बिलासपुर पुलिस के सभी अधिकारी कर्मचारियों के प्रति धन्यवाद किया।
और भी
Previous123456789...745746Next

Jhutha Sach News

news in hindi

news india

news live

news today

today breaking news

latest news

Aaj ki taaza khabar

Jhootha Sach
Jhootha Sach News
Breaking news
Jhutha Sach news raipur in Chhattisgarh