धान का कटोरा

छत्तीसगढ़-तेलंगाना सीमा पर जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ जारी

  • कई नक्सलियों के मारे जाने की खबर
बीजापुर। एक बार फिर नक्सली घटना सामने आई है। दरअसल तेलंगाना और बीजापुर की सीमा पर जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ जारी है। इस दौरान बीजापुर जिले में सुरक्षा बल के जवानों के एक बार फिर बड़ी सफलता मिलने कि खबर मिली है।
सूत्रों के मुताबिक, ग्रेहाउंड्स के जवानों ने तेलंगाना और बीजापुर की सीमा पर नक्सलियों की बड़ी टीम को घेरा है। मुठभेड़ में कई नक्सलियों के मारे जाने की खबर है। हालांकि इसकी अभी अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है
सूत्रों के मुताबिक, बीजापुर जिले के इल्मीड़ी के जंगलों में सुरक्षा बल के जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ चल रही है। मुठभेड़ में अब तक एक नक्सली के शव के साथ हथियार बरामद कर लिया गया है।
और भी

एक पेड़ मां के नाम : पर्यावरण का संरक्षण करना हमारी महती जिम्मेदारी : विधायक किरण देव

  • जिला स्तरीय वन महोत्सव 2024
रायपुर। ’माई चो छांव’ एक पेड़ मां के नाम थीम पर आधारित जिला स्तरीय वन महोत्सव कार्यक्रम बस्तर जिले के इंजीनियरिंग कॉलेज जगदलपुर के ब्यॉज हॉस्टल के समीप वन विभाग के द्वारा गुरुवार को आयोजित की गई। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि विधायक जगदलपुर श्री किरण देव ने कहा कि पर्यावरण का संरक्षण करना हमारी महती जिम्मेदारी है। प्रकृति और पर्यावरण के दृष्टि से वनों का जंगल हमें जो मिला है वो अनमोल चीज है। जंगलों के विनाश से हमने प्राकृतिक आपदा को स्वयं आमत्रण दे रहे और लगातार जलवायु परिवर्तन से पर्यावरण को नुकसान हो रहा हैं। इस कारण हमारी प्राकृतिक सुन्दरता को संरक्षित करने के लिए वृक्षारोपण करना और उसे वृक्ष के रूप में बड़ा करना हमारी जिम्मेदारी है। ताकि प्राकृतिक संतुलन को बिगड़ने से रोका जा सके। उन्होंने कहा कि माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आव्हान पर एक पेड़ मां ने नाम पर पूरे प्रदेश में वृक्षारोपण किया जा रहा है। सभी नागरिक अपने-अपने घर के आंगन में एक पौधा अवश्य लगाएं।
कार्यक्रम में पद्मश्री श्री धर्मपाल सैनी ने कहा कि वृक्ष हमारे जीवन का अभिन्न हिस्सा हैं। पेड़-पौधों से ही हमे प्राण वायु ऑक्सीजन की प्राप्ति होती है। इसलिए इनको संरक्षित करना, हम सबकी जिम्मेदारी हैं। कार्यक्रम में बस्तर सांसद श्री महेश कश्यप, चित्रकोट विधायक श्री विनायक गोयल, सहित गणमान्य जनप्रतिनिधि, सीसीएफ श्री आरसी दुग्गा, बस्तर जिला कलेक्टर श्री विजय दयाराम के., कांगेर वैली राष्ट्रीय उद्यान के संचालक श्री चुड़ामणी सिंह, आईएफएस शमा फारूखी, सीआरपीएफ के अधिकारी सहित बड़ी संख्या में पर्यावरण प्रेमी उपस्थित थे।
कार्यक्रम में वनमण्डलाधिकारी श्री उत्तम गुप्ता ने बताया कि इस इंजीनियरिंग कॉलेज मैदान में वन विभाग के द्वारा 25 प्रकार के पौधों का वृक्षारोपण किया जा रहा है। जिसमें कृष्ण वट, जामुन, जाम, चीकू, रामफल, लक्ष्मण फल, आम सहित अन्य पौधों का रोपण किया गया है। मुख्य अतिथि श्री किरण देव के द्वारा पूजा अर्चना कर  कृष्ण वट   पौध का रोपण किया गया। साथ ही अन्य गणमान्य अतिथियों ने भी मैदान पौधरोपण किया। उपस्थित लोगों द्वारा सेल्फी पाइंट में सेल्फी भी ली गई।
और भी

श्री रामलला दर्शन के लिए जशपुर से श्रद्धालुओं का जत्था अयोध्या धाम हुआ रवाना

  • सरगुजा से आस्था स्पेशल ट्रेन से जशपुर जिले के 200 दर्शनार्थी पहुंचेंगे अयोध्या
रायपुर। श्री अयोध्या धाम श्री रामलला के दर्शन के लिए राज्य भर के राम भक्तों का जत्था लगातार अयोध्या के लिए पहुंच रहे हैं। इसी कड़ी में श्री रामलला दर्शन योजना के तहत अंबिकापुर के रेलवे स्टेशन से अयोध्या जाने वाली विशेष ट्रेन से जशपुर जिले के 200 श्रद्धालुओं की टोली सहित सरगुजा संभाग के 800 से अधिक राम भक्तों को लेकर रवाना हुई। गुरुवार को जशपुर से विधायक श्रीमती रायमुनी भगत सहित अन्य जनप्रतिनिधियों ने श्रद्धालुओं को अंबिकापुर के लिए जनपद कार्यालय से सभी को तिलक लगाकर और पुष्प वर्षा कर रवाना किया।
इस अवसर पर विधायक श्रीमती भगत ने श्री रामलला दर्शन के लिए रवाना हो रहे सभी श्रद्धालुओं को सकुशल यात्रा की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रदेश के मुखिया श्री विष्णु देव साय ने श्री रामलला दर्शन योजना के तहत श्रद्धालुओं को यात्रा, भोजन, अयोध्या में रूकने एवं अन्य सभी प्रकार से बेहतर व्यवस्था की गई है, सब निश्ंिचत हो कर दर्शन करने जाए
श्रद्धालु श्री मलाकी राम ने कहा कि मोदी की गारंटी के तहत मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय द्वारा संचालित श्री रामलला दर्शन योजना बहुत ही अच्छी योजना है। जिसके माध्यम से हम सुविधाओं के साथ निःशुल्क अयोध्या जाकर भगवान श्री राम के दर्शन कर पा रहे हैं। यह हमारे लिए सौभाग्य की बात है। दर्शनार्थी श्री सूरजन राम ने उत्साह के साथ मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय को धन्यवाद देते हुए कहा कि श्री राम लला दर्शन के लिए हम कभी जा पाएंगे यह तो सोचे ही नहीं थे लेकिन यह विष्णु के सुशासन से सब संभव हो पाया है। वही सभी तीर्थयात्रियों ने श्री रामलला दर्शन योजना की प्रशंसा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री श्री साय के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार की अच्छी योजना है। हर वर्ग के लोगों को इसका लाभ मिल रहा है। इस दौरान जनपद सीईओ, जनप्रतिनिधि सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।
और भी

माओवादी आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में पूरी मजबूती के साथ डटे हुए हैं हमारे जवान : CM विष्णुदेव साय

  • दिल्ली प्रवास से लौटते ही मुख्यमंत्री सीधे रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल पहुंचकर घायल जवानों का हाल-चाल जाना
रायपुर। मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय अपने दिल्ली दौरे से लौटने के तुरंत बाद गुरुवार को बीजापुर जिले के तर्रेम क्षेत्र में माओवादियों द्वारा किए गए IED ब्लास्ट में घायल एसटीएफ के 4 जवानों को देखने रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल पहुंचे। इस दौरान उपमुख्यमंत्री श्री अरूण साव और श्री विजय शर्मा भी साथ थे।
मुख्यमंत्री श्री साय ने घायल जवानों का हाल- चाल जाना और उनका हौसला बढ़ाया। उन्होंने डॉक्टरों को बेहतर इलाज के निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री ने जवानों के जल्द स्वस्थ होने की कामना भी की। इस दौरान मुख्यमंत्री श्री साय  ने IED ब्लास्ट में शहीद हुए दो जवानों को नमन करते हुए कहा की हम माओवाद के खिलाफ लड़ाई में पूरी मजबूती के साथ डटे हुए हैं। उन्होंने घायल जवानों के अदम्य साहस की प्रशंसा की और उनका मनोबल बढ़ाया
उल्लेखनीय है की आज बीजापुर जिले के तर्रेम क्षेत्र में माओवादियों द्वारा किए गए IED ब्लास्ट में एसटीएफ के 2 जवान शहीद और 4 जवान घायल हो गए थे। घायल जवानों को उनके बेहतर इलाज के लिए  एयरलिफ्ट कर रायपुर लाया गया है।
और भी

शहरी आजीविका मिशन में अच्छे कार्यों के लिए छत्तीसगढ़ को मिले 5 राष्ट्रीय पुरस्कार

  • केन्द्रीय आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय के ‘स्पार्क’ पुरस्कारों में छत्तीसगढ़ का दबदबा
  • केन्द्रीय मंत्री मनोहर लाल ने नई दिल्ली में आयोजित समारोह में सूडा और चार नगरीय निकायों को किया पुरस्कृत
  • मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय और उप मुख्यमंत्री अरुण साव ने पुरस्कृत नगरीय निकायों को दी बधाई
रायपुर। भारत सरकार के आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय द्वारा शहरी गरीब परिवारों को सशक्त बनाने और उनकी आजीविका के अवसरों को बढ़ाने में उत्कृष्ट कार्यों के लिए आज नई दिल्ली में प्रदान किए गए ‘स्पार्क’ पुरस्कारों में छत्तीसगढ़ का दबदबा रहा। राज्य को इसमें विभिन्न श्रेणियों में पांच पुरस्कार मिले। प्रदेश के तीन शहरों को अपनी-अपनी श्रेणियों में प्रथम पुरस्कार, एक नगरीय निकाय को द्वितीय पुरस्कार और राज्य स्तरीय पुरस्कारों में छत्तीसगढ़ को पूरे देश में तृतीय पुरस्कार से नवाजा गया। केन्द्रीय आवासन और शहरी कार्य मंत्री श्री मनोहर लाल और राज्य मंत्री श्री तोखन साहू ने गुरुवार को नई दिल्ली के इंडिया हैबिटॉट सेंटर में आयोजित समारोह में ये पुरस्कार वितरित किए। छत्तीसगढ़ से गए 20 अधिकारियों और लाभार्थियों की टीम ने अपने-अपने निकायों की ओर से ये पुरस्कार ग्रहण किए।
दीनदयाल अंत्योदय योजना- राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन (डे-एनयूएलएम) में उत्कृष्ट कार्यों के लिए भारत सरकार द्वारा दिए जाने वाले प्रतिष्ठित ‘स्पार्क 2023-24’ पुरस्कारों के अंतर्गत दस लाख तक जनसंख्या श्रेणी में बिलासपुर नगर निगम को पूरे देश में प्रथम पुरस्कार प्रदान किया गया। वहीं तीन लाख तक जनसंख्या श्रेणी में रायगढ़ नगर निगम को और एक लाख तक जनसंख्या श्रेणी में भाटापारा नगर पालिका को पूरे देश में प्रथम पुरस्कार से नवाजा गया। चांपा नगर पालिका को 50 हजार तक जनसंख्या श्रेणी में द्वितीय पुरस्कार मिला।  राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन में श्रेष्ठ कार्यों के लिए छत्तीसगढ़ को पूरे देश में तृतीय पुरस्कार प्रदान किया गया।
मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय ने राज्य को गौरवान्वित करने वाली इस उपलब्धि के लिए सूडा और चारों नगरीय निकायों की टीम के साथ ही प्रदेशवासियों को बधाई दी है। मुख्यमंत्री श्री साय ने कहा कि भारत सरकार द्वारा प्रदत्त ये पुरस्कार राज्य के लिए सम्मान का विषय है। राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत स्वरोजगार और कौशल विकास के साथ ही शहरी पथ विक्रेताओं को सहायता प्रदान की जा रही है। उप मुख्यमंत्री तथा नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री श्री अरुण साव ने भी सूडा और पुरस्कार के लिए चयनित नगरीय निकायों को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन महिलाओं एवं युवाओं के आर्थिक और सामाजिक सशक्तिकरण के लिए प्रतिबद्ध मिशन है। छत्तीसगढ़ इस मिशन में लगातार श्रेष्ठ प्रदर्शन कर रहा है।
शहरी गरीब परिवारों को सशक्त बनाने और उनकी आजीविका के अवसरों को बढ़ाने में अच्छे कार्यों को रेखांकित करने नई दिल्ली में आयोजित समारोह में छत्तीसगढ़ शासन द्वारा पीएम स्वनिधि योजना के नामांकित लाभार्थी जशपुर नगर पालिका के श्री सुमित किस्कु और लोरमी नगर पंचायत के श्री कुशाल राम साहू भी शामिल हुए। राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के लाभार्थी के रूप में नामांकित जगदलपुर नगर निगम की हैप्पी महिला स्वसहायता समूह की श्रीमती मृदुला जैन, भिलाई नगर निगम की राधा रानी स्वसहायता समूह की श्रीमती चित्ररेखा साहू, सिटी मिशन प्रबंधक सुश्री एकता शर्मा और श्री संत कुमार महतो ने भी छत्तीसगढ़ की ओर से समारोह में सहभागिता दी।
राज्य की ओर से इन्होंने ग्रहण किए पुरस्कार-    
नई दिल्ली के इंडिया हैबिटॉट सेंटर में आयोजित पुरस्कार समारोह में छत्तीसगढ़ को मिला तृतीय पुरस्कार सूडा (राज्य शहरी विकास अभिकरण) के उप मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सुनील अग्रहरि, राज्य मिशन प्रबंधक श्री विवेक शुक्ला और श्री प्रशांत अमोली ने ग्रहण किया। बिलासपुर नगम निगम के आयुक्त श्री अमित कुमार, रायगढ़ नगर निगम के आयुक्त श्री सुनील चंद्रवशी, सिटी मिशन प्रबंधक श्री केदार पटेल और श्री शुभम शर्मा, भाटापारा नगर पालिका के मुख्य नगर पालिका अधिकारी श्री लाल अजय बहादुर सिंह और सिटी मिशन प्रबंधक श्री नीरज साहू तथा चांपा नगर पालिका के मुख्य नगर पालिका अधिकारी एवं सहायक कलेक्टर श्री दुर्गा प्रसाद अधिकारी और श्री भोला सिंह ठाकुर ने अपने-अपने निकायों की ओर से पुरस्कार प्राप्त किया। केन्द्रीय आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय के सचिव श्री अनुराग जैन, संयुक्त सचिव तथा एनयूएलएम एवं पीएम स्वनिधि के प्रबंध निदेशक श्री राहुल कपूर, पीएम स्वनिधि की संचालक श्रीमती शालिनी पाण्डेय और एनयूएलएम के संचालक श्री सुनील कुमार यादव भी पुरस्कार समारोह में मौजूद थे।
और भी

जनता में विश्वास बहाली बड़ी चुनौती, मोदी की गारंटी पूरी कर जीता भरोसा : CM विष्णुदेव साय

  • नई दिल्ली में आयोजित सुशासन संवाद कार्यक्रम में शामिल हुये छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री
रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय छत्तीसगढ़ सरकार के छह माह पूरे होने पर नई दिल्ली के अशोका होटल में  आयोजित सुशासन संवाद कार्यक्रम में प्रदेश सरकार की उपलब्धियां व राज्य में सुशासन की दिशा में उठाए गए कदमों पर चर्चा की। इस मौके पर उन्होने जनता के सवालों का भी बेबाकी के साथ जवाब दिया।
मुख्यमंत्री श्री साय ने संबोधित करते हुये कहा शपथ ग्रहण के पश्चात हमारी सबसे बड़ी चुनौती जनता के भरोसे पर खरा उतरना था। मोदी जी ने जो प्रदेश की आम जनता को गारंटी दी थी, उन्हें पूरा करना था। लेकिन हमने 7 महीने के भीतर ही अधिकांश गारंटियों को पूरा कर जनता का भरोसा पुनः अर्जित कर लिया है। उन्होने कहा छत्तीसगढ़ में जनता का काम साएँ-साएँ हो रहा है, जिससे कमीशनखोरी करने वालों के मंसूबों पर पानी फिर गया है।
मुख्यमंत्री ने कहा, "हमारी सरकार की नियत और नीति दोनों सही हैं। उन्होने नक्सलवाद के विरुद्ध किए गए कार्यों पर विशेष जोर देते हुये कहा "हमारी सरकार ने नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में सुरक्षा को मजबूत करने के लिए विशेष प्रयास किए हैं। हमने सुरक्षा कैंप स्थापित किए हैं और इन इलाकों में विकास कार्यों को तेज किया है। इससे न केवल सुरक्षा बल्कि विकास की दिशा में भी हमें बड़ी सफलता मिली है।"
कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री श्री साय ने यह भी बताया कि छत्तीसगढ़ में पारदर्शिता और सुशासन को बढ़ावा देने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं। उन्होंने कहा, "हमने प्रशासनिक प्रक्रियाओं को सरल और पारदर्शी बनाया है ताकि जनता को उनकी समस्याओं का समाधान जल्दी और प्रभावी तरीके से मिल सके।"
मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय ने अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुये कहा कि हमने सरकार बनते ही मोदी जी की गारंटी के अनुरूप 18 लाख 12 हजार 743 जरूरतमंद परिवारों को प्रधानमंत्री आवास उपलब्ध कराया। किसानों को 2 साल का बकाया धान बोनस दिया। वादे के अनुरूप 3100 रुपए प्रति क्विंटल की दर से और 21 क्विंटल प्रति एकड़ के मान से धान खरीदी शुरू की। राज्य की महिलाओं के लिए महतारी वंदन योजना के अंतर्गत प्रति माह एक-एक हजार रुपए की सहायता राशि दी जा रही है। राज्य में तेंदूपत्ता संग्रहण पारिश्रमिक दर 4000 रुपए प्रति मानक बोरा से बढ़ाकर अब 5500 रुपए प्रति मानक बोरा कर दी गई है।
मुख्यमंत्री श्री साय ने बताया कि उनकी सरकार ने राज्य में विकास और सुरक्षा के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा, "हम वैल्यू एडिशन कर रहे हैं और आने वाले समय में हमारा सपनों का छत्तीसगढ़ तैयार हो रहा है। राज्य के विकास के लिए हमने कई नई परियोजनाएँ शुरू की हैं और जनता को उनकी आवश्यकता की सभी सुविधाएँ प्रदान कर रहे हैं।"
सुशासन संवाद कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री साय ने अपने दृष्टिकोण और योजनाओं को साझा करते हुए बताया कि उनकी सरकार राज्य के विकास और जनहित के कार्यों के प्रति पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा, "हम छत्तीसगढ़ को एक मॉडल राज्य बनाने की दिशा में निरंतर प्रयास कर रहे हैं।

 

और भी

वन भूमि अधिकार पत्र को लेकर अहम अधिसूचना जारी

रायपुर। अजाजजा विभाग ने वन भूमि अधिकार पत्र को लेकर एक अहम अधिसूचना जारी की है। यह 9 जुलाई को कैबिनेट के निर्णयानुसार जारी किया गया है। इसके मुताबिक वन भूमि पर व्यक्तिगत काबिज के वनाधिकार पत्रधारकों की मृत्यु होने पर उसके विधिक वारिसों के नाम पर वन भूमि हस्तांतरण करने की अनुमति हेगी। साथ ही राजस्व एवं वन अभिलेखों में दर्ज करने संबंधी कार्रवाई के लिए प्रक्रिया अधिसूचित कर दी गई है।
और भी

नक्सल घटनाएं जल्द बंद होंगी : गृहमंत्री विजय शर्मा

रायपुर। गृहमंत्री विजय शर्मा ने कहा, नक्सलियों के खिलाफ चलाए गए अभियान में छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र के बॉर्डर गढ़चिरौली में 12 नक्सली मारे गए हैं, किसी भी जवान को कोई क्षति नहीं पहुंची है... बीजापुर में एक अन्य घटना हुई है जहां STF के दो जवान IED के ब्लास्ट से शहीद हो गए हैं... 4 जवान घायल हुए हैं, वे सभी खतरे से बाहर हैं... मुझे पूरी उम्मीद है कि यह सारी घटनाएं जल्द बंद होंगी और पूरे बस्तर में शांति की स्थापना होगी।
बता दें कि बीजापुर जिले में नक्सलियों द्वारा लगाई गई IED की चपेट में आने से STF के 2 जवान शहीद हो गए हैं। 4 जवान घायल हैं। बताया जा रहा है कि बुधवार देर शाम जवान एंटी नक्सल ऑपरेशन पर निकले थे। लौटते समय बीजापुर के तर्रेम के पास IED की चपेट में आए।
पुलिस को सूचना मिली थी कि बीजापुर, सुकमा और दंतेवाड़ा जिले की सीमा पर दरभा डिवीजन के नक्सली बड़ी संख्या में मौजूद हैं। इसी सूचना के आधार पर तीनों जिलों से STF, DRG, कोबरा और CRPF की संयुक्त टीम को ऑपरेशन के लिए भेजा गया था। शहीद होने वाले STF के कॉन्स्टेबल भरत साहू और सत्येर सिंह कांगे हैं। घायल जवानों में पुरुषोत्तम नाग, कोमल यादव, सियाराम सोरी और संजय कुमार शामिल हैं। इन्हें जगदलपुर मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया है। इसके बाद यहां से सभी को हेलिकॉप्टर के जरिए रायपुर लाया जाएगा। शहीद भरत साहू रायपुर और सत्येर सिंह कांगे नारायणपुर के रहने वाले थे।
और भी

छत्तीसगढ़ में पटवारियों की हड़ताल खत्म, काम पर लौटे

रायपुर। छत्तीसगढ़ में पटवारियों की हड़ताल खत्म हो गई है. राजस्व मंत्री टंकराम वर्मा से मुलाकात के बाद पटवारियों ने आज से ही काम पर लौटने का फैसला लिया. बताया जा रहा कि पटवारियों की मांग पर बनी सहमति बन गई है. मंत्री टंकराम ने कहा, सभी पटवारी आज से काम शुरू करेंगे. पहले भी चर्चा हुई थी. वो सार्थक नहीं हो पाई थी. आज सार्थक चर्चा हुई है.
मंत्री वर्मा ने कहा, भुइयां एप मामले में भी चर्चा हुई है. गलती अपने से नहीं करते हैं. इस पर भी सुधार किया जाएगा. वहीं तहसीलदारों के 22 तारीख तक आश्वासन को लेकर मंत्री ने कहा, वो काम पर लौट गए हैं. मांग पर सहमति बनी है, वो काम करेंगे.
ओलंपिक योजना बंद कर क्रीड़ा योजना से जोड़ा जाएगा, इस मामले में मंत्री टंकराम ने कहा, उसकी जगह पर दूसरी योजना कई है. इसका व्यापक रूप रहेगा. ग्रामीण प्रतिभा को योजना के तहत आगे बढ़ाएंगे. उत्कृष्ठ खिलाड़ियों को नौकरी मिलने को लेकर उन्होंने कहा, हमारी अभी समिति की बैठक होगी, जिसमें इस विषय को रखेंगे. भाजपा कार्यकाल में ही खिलाड़ियों के हित में काम शुरू हुआ था.
और भी

शिवम हाईटेक में भीषण आग, करोड़ों का सामान जलकर खाक

दुर्ग. भिलाई के शिवम हाईटेक में भीषण आग लगने से करोड़ों का सामान जलकर खाक हो गया. शॉर्ट सर्किट से आग लगने की संभावना जताई जा रही है. घटना की सूचना मिलते ही पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंची है. आग पर काबू पाने का प्रयास जारी है. दमकल की पांच गाड़ियां आग बुझाने में लगी है.
यह घटना जामुल थाना क्षेत्र की है. फैक्ट्री में रखे टाइटेनियम धातु में भीषण आग लगी है. शिवम हाईटेक कंपनी विदेश से इंपोर्ट कर बीएसपी को टाइटेनियम सप्लाई करती है. आग लगने का कारण अज्ञात है. पुलिस मामले की जांच कर रही. बताया जा रहा कि इस घटना में कंपनी के संचालक को करोड़ों का नुकसान हुआ है.
और भी

जैतखाम तोड़फोड़ की न्यायिक जांच शुरू

  • कलेक्ट्रेट ने आगजनी घटना में शामिल शिक्षक मोहन बंजारे निलंबित
बलौदाबाजार। जिले के ग्राम महकोनी स्थित अमर गुफा में जैतखाम तोड़े जाने व बलौदाबाजार हिंसा व आगजनी की जांच औपचारिक तौर पर आज से शुरू हो गई. घटना की जांच करने न्यायिक आयोग के अध्यक्ष सेवानिवृत्त न्यायाधीश सीबी बाजपेयी बलौदाबाजार पहुंचे.
सेवानिवृत्त न्यायाधीश सीबी बाजपेयी ने बलौदाबाजार सर्किट हाउस में पत्रकारों से चर्चा में कहा कि अभी तो हम यहां व्यवस्था देखने आए हैं. बलौदाबाजार में ही जांच आयोग बैठेगी. इसके लिए न्यायालय परिसर की व्यवस्था देखेंगे.
सेवानिवृत्त न्यायाधीश सीबी बाजपेयी ने संयुक्त जिला कार्यालय परिसर पहुंचने के बाद अपर कलेक्टर कार्यालय में दस्तावेज देखकर अपर कलेक्टर को तैयारी को लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिए. इसके बाद ग्राम महकोनी स्थित अमर गुफा व गिरौदपुरी जाएंगे. सभी पक्षों से शपथ पत्र में जानकारी लेंगे. इसके बाद प्रति परीक्षण और बयान की कार्रवाई होगी.
कलेक्ट्रेट ने आगजनी घटना में शामिल शिक्षक मोहन बंजारे निलंबित
बलौदाबाजार में विगत 10 जून को संयुक्त जिला कार्यालय में हुई आगजनी घटना के अभियुक्त शिक्षक मोहन बंजारे को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। मोहन बंजारे व्याख्याता (एल.बी.) के रूप में शा.उ.मा.वि गोड़ा विकासखण्ड पलारी में पदस्थ थे। उनके विरूद्ध थाना सिटी कोतवाली बलौदाबाजार में अपराध कमांक 381/2024 धारा 147, 148, 149, 294, 506, 186, 353, 332, 307, 435, 120बी, 427 भादवि सार्वजनिक सम्पत्ति नुकसान निवारण अधिनियम 1984 की धारा 3,4 के अन्तर्गत दिनांक 15 जुलाई 2024  को गिरफ्तार कर विधिवत न्यायिक रिमाण्ड पर लिया गया है। उक्त कार्रवाई छत्तीसगढ़ सिविल सेवा (वर्गीकरण, नियंत्रण तथा अपील) नियम 1966 के नियम 9 के उपनियम (2) (क) के तहत किया गया है। निलंबन अवधि में सम्बंधित को नियमानुसार केवल जीवन निर्वाह भत्ता की पात्रता होगी।
और भी

छत्तीसगढ़ को अयोध्या तक मिलेगी सीधी कनेक्टिविटी, नए राष्ट्रीय राजमार्ग का प्रस्ताव

  • छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से की मुलाकात
रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय ने गुरुवार को केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री श्री नितिन गडकरी से उनके निवास पर मुलाकात की। बैठक में राज्य में चल रही सड़क परियोजनाओं और आदिवासी क्षेत्रों में व अयोध्या तक सीधी कनेक्टिविटी बढ़ाने पर विस्तार से चर्चा हुई। मुख्यमंत्री ने राज्य में सड़क परिवहन को और अधिक सुलभ व सुविधाजनक बनाने के लिए नई राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का प्रस्ताव रखा। जिस पर केंद्रीय मंत्री श्री गडकरी  ने विभागीय अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।
बैठक में उपमुख्यमंत्री श्री अरुण साव और वित्त मंत्री श्री ओपी चौधरी,  छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री के सचिव श्री पी दयानंद, श्री राहुल भगत, लोक निर्माण विभाग के सचिव डॉ कमलप्रीत सिंह सहित अन्य विभागीय अधिकारी और भारत सरकार के अधिकारी भी उपस्थित थे।
बैठक में मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय ने राज्य के सामाजिक एवं आर्थिक उन्नति एवं सुदूर आदिवासी वनांचलों को मुख्य मार्गों से जोड़ने के लिए नए राष्ट्रीय राजमार्ग का प्रस्ताव रखा। मुख्यमंत्री ने रायगढ़-धरमजयगढ़-मैनपाट-अंबिकापुर-उत्तरप्रदेश सीमा तक कुल 282 किमी तक के मार्ग को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने की मांग की है। श्री साय ने बताया यह मार्ग प्रदेश के चार जिलों से होकर गुजरता है एवं धार्मिक नगरी अयोध्या से छत्तीसगढ़ राज्य को जोड़ने वाला मुख्य मार्ग है।
मुख्यमंत्री ने कवर्धा-राजनांदगांव-भानुप्रतापपुर-अंतागढ़-नारायणपुर-गीदम-दंतेवाड़ा-सुकमा मार्ग को भी राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने का आग्रह किया है। मुख्यमंत्री ने बताया यह कुल 482 किमी लंबा राज्य के कुल 6 राष्ट्रीय राजमार्गों एवं 5 जिला मुख्यालय को जोड़ने वाला अति महत्वपूर्ण मार्ग है। इस मार्ग के निर्माण होने से बस्तर का नक्सल प्रभावित क्षेत्र मुख्यमार्ग से जुड़ेगा एवं नक्सल गतिविधियों में कमी आएगी।
इसके साथ ही उन्होंने कहा रायपुर शहर से तीन राष्ट्रीय राजमार्ग गुजरते हैं। एनएच 130बी से 53 को जोड़ने वाले मार्ग को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने की मांग की। उन्होंने कहा यह मार्ग एनएच घोषित होने से रायपुर शहर का रिंग रोड पूर्ण रूप से राष्ट्रीय राजमार्ग हो जाएगा।
इसके अलावा उन्होंने रतनपुर-लोरमी-मुंगेली-नांदघाट-भाटापारा-बलौदाबाजार मार्ग, केंवची-पेंड्रारोड-पसान-कटघोरा मार्ग, मुंगेली-नवागढ़-बेमेतरा-धमधा-दुर्ग-झलमला मार्ग, राजनांदगाँव-मोहला-मानपुर मार्ग, पंडरिया-बजाग-गाड़ासरई मार्ग को भी राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने का प्रस्ताव मुख्यमंत्री ने रखा है।
मुख्यमंत्री श्री साय ने राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 130 में कटघोरा से अंबिकापुर तक फोर लेन चौड़ीकरण करने तथा एनएच क्रमांक 53 पर टाटीबंध से तेलीबांधा तक सुरक्षित यातायात की दृष्टि से सरोना चौक, उद्योग भवन, और तेलीबांधा चौक पर ग्रेड सेपरेटर निर्माण की आवश्यकता बताई है।
इसके साथ ही उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग के वार्षिक योजना 2024-25 में एनएच 30 धमतरी से जगदलपुर व एनएच 130बी में रायपुर-बलौदाबाजार-सारंगढ़ मार्ग फोर लेन करने का प्रस्ताव रखा है। वहीं, रायपुर-दुर्ग एनएच 53 के दो जंक्शन सिरसा गेट व खुर्सीपार जंक्शन पर ग्रेड सेपरेटर निर्माण के स्वीकृति का आग्रह किया है।
मुख्यमंत्री ने बताया कि केंद्रीय सड़क निधि के अंतर्गत 1383 करोड़ के 13 कार्यों के प्रस्ताव मंत्रालय को भेजे गए हैं। उन्होंने प्रस्तावों को जल्द स्वीकृत करने का अनुरोध किया।
मुलाक़ात के दौरान मुख्यमंत्री ने रायपुर में नवंबर में होने वाले इंडियन रोड कॉंग्रेस का 83वां वार्षिक अधिवेशन में शामिल होने के लिए केंद्रीय मंत्री को आमंत्रण भी दिया। केंद्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी ने छत्तीसगढ़ में सड़क बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के लिए विभिन्न प्रस्तावों पर जल्द से जल्द सकारात्मक पहल करने का आश्वासन दिया है।
और भी

शासकीय उचित मूल्य दुकान संचालन हेतु आवेदन 30 जुलाई तक आवेदन

कोरिया। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सोनहत से मिली जानकारी अनुसार  सार्वजनिक वितरण प्रणाली अंतर्गत शासकीय उचित मूल्य दुकान के संचालन के ग्राम पंचायत के महिला स्व.सहायता समूह, लैम्प्स, अन्य समूह, सहकारी समितियों 30 जुलाई 2024 तक आवेदन पत्र आमंत्रित किये गये है।
जिले के विकासखण्ड सोनहत के शासकीय उचित मूल्य दुकान उज्ञांव आई.डी क्रमांक 532003003, शासकीय उचित मूल्य दुकान सिघोर आई.डी क्रमांक 532003002 एवं शासकीय उचित मूल्य दुकान रामगढ़ आई.डी क्रमांक 532003004 हेतु आवेदन पत्र आमंतित्र किये गये है।
और भी

राजस्व मंत्री वर्मा को भारत स्कॉउट एवं गाइड के मुख्य आयुक्त ने सौंपा ज्ञापन

रायपुर। राजस्व मंत्री श्री टंक राम वर्मा के निवास कार्यालय में आज भारत स्कॉउट एवं गाइड के राज्य मुख्य आयुक्त डॉ. सोमनाथ यादव ने सौजन्य भेंट की। डॉ. यादव ने भारत सरकार स्काउट एवं गाइड्स के छत्तीसगढ़ में आयोजित गतिविधियों से अवगत कराते हुए स्काउट गाइड्स झीपन में आबंटित भू-खण्ड के विकास के लिए मंत्री श्री वर्मा को ज्ञापन सौंपा।
डॉ. यादव ने मंत्री श्री वर्मा को अवगत कराया कि भारत स्काउट्स एवं गाइड्स छत्तीसगढ़ के निर्माणाधीन राज्य प्रशिक्षण केन्द्र ग्राम झीपन, तहसील सिमगा जिला बलौदाबाजार-भाटापारा स्थित भूमि खसरा नं. 11, रकबा 13.40 हेक्टयर में से 5 हेक्टयर भूमि को भारत स्काउट्स एवं गाइड्स छत्तीसगढ़ राज्य प्रशिक्षण केन्द्र हेतु ग्राम पंचायत के सहयोग से शासन द्वारा हस्तांतरित किया गया है। इस राज्य प्रशिक्षण केन्द्र में बाऊन्ड्रीवाल निर्माण करने का ज्ञापन सौंपते हुए डॉ. यादव ने कहा कि भारत स्काउट्स एवं गाइड्स छत्तीसगढ़ द्वारा विविध प्रशिक्षण एवं अन्य गतिविधियों का संचालन जैसे आपदा प्रबंधन शिविर, एडवेंचर कैंप इत्यादि का आयोजन किया जाता है जिसके लिए मैदान में समतलीकरण किया जाना अतिआवश्यक है। इसके साथ ही उन्होंने आवश्यक एडवेंचर बेस का निर्माण और राज्य प्रशिक्षण केन्द्र झीपन का सौंदर्यीकरण करने का ज्ञापन सौंपा।
और भी

बीजापुर-सुकमा बॉर्डर में 2 एसटीएफ के जवान शहीद, 4 गंभीर रुप से घायल

  • एसटीएफ के 4 घायल जवानों को रायपुर लाया गया
  • मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने जवानों की शहादत को किया नमन
बीजापुर। जिले में एक बार फिर नक्सलियों ने अपने कायराना करतूत को अंजाम दिया है। नक्सली ऑपरेशन पर निकले जवानों पर IED से हमला किया है। नक्सलियों के इस हमले में STF के 2 जवान शहीद हो गए। वहीं 4 लोग गंभीर रुप से घायल हैं। बताया जा रहा है कि जवान एंटी नक्सल ऑपरेशन पर निकले थे। लौटते समय बीजापुर के तर्रेम के पास IED की चपेट में आए।
शहीद होने वाले एसटीएफ के कॉन्स्टेबल भरत साहू और सत्येर सिंह कांगे हैं। घायल जवानों में पुरुषोत्तम नाग, कोमल यादव, सियाराम सोरी और संजय कुमार शामिल हैं। इन्हें जिला अस्पताल से हेलिकॉप्टर के जरिए रायपुर लाया गया।
मिली जानकारी के अनुसार पुलिस को सूचना मिली थी कि बीजापुर, सुकमा और दंतेवाड़ा जिले की सीमा पर दरभा डिवीजन के नक्सली बड़ी संख्या में मौजूद हैं। इसी सूचना के आधार पर तीनों जिलों से STF, DRG, कोबरा और CRPF की संयुक्त टीम को ऑपरेशन के लिए भेजा गया था। इसी दौरान नक्सलियों ने अचानक जवानों पर आईईडी ब्लास्ट कर दिया। इस ब्लास्ट में 2 जवान शहीद हो गए। वहीं 4 जवान गंभीर रुप से घायल है। ब्लास्ट की सूचना के बाद मौके के लिए अतिरिक्त फोर्स भेजा गया है।
मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने जवानों की शहादत को किया नमन
मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय ने माओवादी हिंसा की घटना में जवानों की शहादत को नमन किया है। उन्होंने शहीद जवानों के परिवारों के प्रति संवेदना प्रकट की है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि बीजापुर जिले के तर्रेम क्षेत्र में माओवादियों द्वारा किए गए IED ब्लास्ट में एसटीएफ के 2 जवानों के शहीद होने और 4 जवानों के घायल होने की दुःखद सूचना प्राप्त हुई है। ईश्वर से शहीद जवानों की आत्मा की शांति और घायल जवानों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं। मुख्यमंत्री श्री साय ने कहा है कि माओवाद के खात्मे के लिए हमारी सरकार द्वारा चलाए जा रहे अभियान से नक्सली विचलित हैं और कायराना हरकतों को अंजाम दे रहे हैं। जवानों की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। माओवाद के खात्मे तक हमारी ये लड़ाई जारी रहेगी।
और भी

CM विष्णुदेव साय ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से की मुलाकात

रायपुर। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मुलाकात की। X पोस्ट में सीएम ने बताया, नई दिल्ली स्थित संसद भवन में लोकसभा अध्यक्ष श्री ओम बिरला जी से मुलाकात कर पुनः लोकसभा अध्यक्ष चुने जाने पर हार्दिक बधाई एवं सफल कार्यकाल हेतु शुभकामनाएं दी। सरल-सहज स्वभाव के धनी ओम बिरला जी के इस कार्यकाल में लोकसभा की गरिमा निश्चित ही और अधिक ऊंचाईयों को प्राप्त करेगी।
CMO ने बताया- मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने लोक सभा अध्यक्ष ओम बिड़ला से मुलाक़ात की। संसद भवन में आयोजित इस बैठक का मुख्य उद्देश्य राज्य और केंद्र के बीच समन्वय और सहयोग को बढ़ावा देना था। मुख्यमंत्री साय ने छत्तीसगढ़ के विकास से संबंधित कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की, जिसमें विशेष रूप से राज्य के बुनियादी ढांचे, शिक्षा, स्वास्थ्य और कृषि क्षेत्रों में चल रही परियोजनाओं और आगामी योजनाओं पर ध्यान केंद्रित किया गया। उन्होंने लोक सभा अध्यक्ष को राज्य में चल रहे विकास कार्यों की प्रगति से अवगत कराया और केंद्र सरकार से निरंतर समर्थन की अपेक्षा व्यक्त की।
और भी

जल है तब तक जीवन है, वृक्ष है तब तक जीवन है : डॉ. रमन सिंह

  • विधानसभा अध्यक्ष ने गांधी सभागृह परिसर में अपनी मां के नाम लगाया बरगद का पौधा
  • नगरवासियों को 300 से अधिक पौधों का वितरण
राजनांदगांव। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. रमन सिंह बुधवार को नगर पालिक निगम राजनांदगांव द्वारा गांधी सभागृह में आयोजित एक पेड़ मां के नाम के तहत चलव बनाबो हरियर राजनांदगांव कार्यक्रम में शामिल हुए। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. रमन सिंह ने नगरवासियों को 300 से अधिक फलदार, छायादार और सुंगधित फूल के पौधों का वितरण किया। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. रमन सिंह ने गांधी सभागृह परिसर में अपनी माँ स्वर्गीय श्रीमती सुधा देवी सिंह के नाम बरगद का पौधरोपण किया। इस अवसर पर सांसद श्री संतोष पाण्डेय उपस्थित थे। सांसद श्री संतोष पाण्डेय ने भी अपनी माँ के नाम पर पौधा लगाया।
विधानसभा अध्यक्ष डॉ. रमन सिंह ने कहा कि पूरे देश में एक पेड़ माँ के नाम अभियान के तहत पौधरोपण किया जा रहा हैं। उन्होंने कहा कि राजनांदगांव जिले में एक पेड़ मां के नाम अभियान अंतर्गत अच्छा कार्य किया जा रहा है। जल है तब तक जीवन है, वृक्ष है तब तक जीवन है। इसलिए जल संरक्षण एवं वृक्ष लगाना हमारे लिए आवश्यक है। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया में पर्यावरण संरक्षण के लिए विशेषज्ञ एवं वैज्ञानिक चिंता में है। विश्व में पर्यावरण संरक्षण की ही बात की जा रही है। विश्व में जल संरक्षण एवं ओजोन परत में क्षति और कार्बन उत्सर्जन सबसे बड़ी चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि पेड़ काटने से मौसम में परिवर्तन आया है। जहां बारिश हुई तो बहुत होती है, नहीं तो महीने भर बारिश नहीं होती है। प्रकृति का नया-नया रूप देखने को मिल रहा है, उसके लिए हम सभी दोषी है। जंगल को कटने से बचाना है। उन्होंने कहा कि दुनिया के चारों तरफ समुद्र का पानी है। दुनिया में जितना पानी उपलब्ध है। उसका सबसे बड़ा हिस्सा 94 प्रतिशत पानी समुद्र के हिस्से में हैं। जिसका उपयोग पीने, खेती एवं अन्य उपयोग में नहीं ला सकते हैं। पृथ्वी के नीचे और नदियों, तालाबों का पानी रिसायकल होकर गिरता है। उन्होंने बताया कि 0.5 प्रतिशत ही पानी इस दुनिया के लिए उपयोगी है।
विधानसभा अध्यक्ष डॉ. रमन सिंह ने कहा कि आज जब वृक्षारोपण की बात हो रही है। एक पेड़ अपनी माँ के नाम से लगाने से निश्चित रूप से भावनात्मक रूप से हम जुड़े हैं। उस प्रकृति से जुड़ने और बचाने के लिए हमारी भूमिका महत्वपूर्ण है। इसके लिए हम सब का योगदान होना चाहिए। उन्होंने कहा कि यहां से हम सभी एक-एक पेड़ ले जाएंगे और उचित स्थान में लगाएंगे। माँ के नाम पेड़ है तो इसलिए उसका रक्षा का दायित्व और कर्तव्य भी है। उसे हर साल बढ़ते हुए देखेंगे तो आपके जीवन में खुशहाली आएगी और माँ का आर्शीवाद मिलेगा। उन्होंने कहा कि हम पेड़ आने वाली पीढ़ी के लिए लगाते हैं। किसी पीढ़ी ने पेड़ लगाया उसका फल आज हम ले रहे हैं। आप जो पेड़ लगाएंगे उसे आने वाली पीढ़ी आपको धन्यवाद देगी। इसकी शुरूआत हुई है, यह सतत चलता रहे। हमारा राजनांदगांव हरा-भरा रहे और पर्यावरण की दृष्टि से बेहतर हो, इस दिशा में हम सब मिलकर काम करेंगे। इस अवसर पर उन्होंने सभी को बधाई एवं शुभकामनाएं दी।
सांसद श्री संतोष पाण्डेय ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी देश के साथ विदेशों में होने वाले सभी कार्यक्रम में विश्व को पर्यावरण संरक्षण का संदेश दे रहे हैं। प्रधानमंत्री ने विश्व को बताया कि भारत पूरी धरती को कुटुम्ब मानती है और पूरा विश्व एक-दूसरे से जुड़ा हुआ है। प्रधानमंत्री की जलवायु परिवर्तन व विविधता के विषय में चिंतन एवं वनों के संबंध में उनके विचारों को पूरी दुनिया ने स्वीकार किया है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में पूरा देश एक पेड़ माँ के नाम पर लगा रहा है। भारतीय संस्कृति में प्रकृति के साथ समरसता रही है और इसके बिगड़ने पर देश व विश्व में विकृति आयी है। भारतीय संस्कृति में पेड़-पौधों, पशु-पक्षी, शिलाओं में जड़-चेतन की बात कही गई है और पूजा जाता रहा है। सांसद श्री पाण्डेय ने कहा कि एक पेड़ से फल, फूल, छाया मिलती है और पेड़ों पर पक्षियों के लिए आशियाना भी बनता है। एक पेड़ माँ के नाम अभियान से आज फिर से अपनी माँ को याद करने का अवसर मिला है। उन्होंने कहा कि हम रहे या न रहे लेकिन एक पेड़ से हम हमेशा याद किए जाएंगे। कार्यक्रम में नगर पालिक निगम क्षेत्र में हरियर राजनांदगांव बनाने के लिए सतत रूप में कार्य कर रहे हरियर मित्र श्री दुर्गेश कुमार, श्री जागेश्वर वैष्णव, श्री सूरज कुमार देवांगन, श्री खिलेश्वर प्रसाद साहू, श्री कैलाश पूरी गोस्वामी, श्री हिमान्शु साहू को शाल-श्रीफल प्रदान कर सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर पूर्व सांसद श्री मधुसूदन यादव, श्री खूबचंद पारख, श्री नीलू शर्मा, श्री भरत वर्मा, श्री दिनेश गांधी, श्री संतोष अग्रवाल, श्री रमेश पटेल, श्री राजेन्द्र गोलछा, श्री कोमल सिंह राजपूत, नेता प्रतिपक्ष नगर निगम श्री किशुन यदु, कलेक्टर श्री संजय अग्रवाल, पुलिस अधीक्षक श्री मोहित गर्ग, सीईओ जिला पंचायत सुश्री सुरूचि सिंह, निगम आयुक्त श्री अभिषेक गुप्ता, नगर निगम राजनांदगांव के पार्षदगण, जनप्रतिनिधिगण, नगर निगम राजनांदगांव के अधिकारी-कर्मचारी एवं बड़ी संख्या में नगरवासी उपस्थित थे।
और भी

जनकल्याणकारी योजनाओं का शत-प्रतिशत लाभ पात्र हितग्राहियों को मिले : मंत्री केदार कश्यप

  • प्रभारी मंत्री ने शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, सिंचाई सहित विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा की
  • विषम परिस्थितियों में योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन के लिए अधिकारियों की सराहना की
रायपुर। वन एवं जलावायु परिवर्तन मंत्री तथा बीजापुर जिले के प्रभारी मंत्री श्री केदार कश्यप ने आज अपने एक दिवसीय प्रवास पर बीजापुर पहुंचे। उन्होंने जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर राज्य और केन्द्र प्रवर्तित जनकल्याणकारी योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। मंत्री श्री कश्यप कहा  कि शासन की योजनाओं का शत-प्रतिशत लाभ पात्र हितग्राहियों को दिलाना सुनिश्चित करें। योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के लिए स्थानीय जनप्रतिनिधों का सहयोग लिया जाए। उन्होंने शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, सिंचाई सहित जिले के विभिन्न विकास कार्यों की जानकारी प्राप्त की और अधिकारियों को  आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने जिले के विषम परिस्थिति के बावजूद विभागीय समन्वय के साथ विकास कार्याे में बेहतर प्रदर्शन के लिए अधिकारियों का उत्साहवर्धन भी किया। बैठक में बस्तर लोकसभा सांसद श्री महेश कश्यप विशेष रूप से उपस्थित थे।
वन मंत्री श्री केदार कश्यप ने कहा है कि बरसात के मौसम में मौसमी एवं जलजनित बीमारियों की रोकथाम के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जाएं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग मलेरिया उन्मूलन के लिए मच्छरदानी वितरण, डीडीटी छिड़काव सुनिश्चित करें। सर्पदंश के इलाज के लिए पर्याप्त मात्रा में एन्टी वेनम व अन्य मेडिसिन की व्यवस्था रखी जाए।
मंत्री श्री कश्यप ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय के नेतृत्व में राज्य सरकार किसानों की उन्नति के लिए संवेदनशीलता के साथ कार्य कर ही है। शासन द्वारा किसान हितैषी योजनाओं का क्रियान्वयन की जा रही है। उन्होंने कहा कि किसानों के सहूलियत को ध्यान में रखते हुए उनके मांग के अनुरूप खाद और बीज उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने किसानों को खेती-किसानी के संबंध में जरूरी पहलुओं की जानकारी कृषि विभाग के अधिकारी तथा कृषि विज्ञान केन्द्र के माध्यम से प्रदान करने के निर्देश दिए। मंत्री श्री कश्यप ने केन्द्र एवं राज्य शासन की महत्वाकांक्षी योजना-प्रधानमंत्री आवास योजना, सामुदायिक एवं व्यक्तिगत शौचालय निर्माण, महतारी वंदन योजना, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, नियद नेल्लानार की प्रगति की समीक्षा की। कलेक्टर श्री अनुराग पाण्डेय ने जिले में सिंचाई का रकबा बढ़ाने, नियद नेल्लानार की प्रगति, बीजापुर के शांति नगर वार्ड में निवासरत नक्सल पीड़ित परिवारों दी जा रही आवश्यक सुविधाएं, रेल कॉरिडोर संबंधी प्रस्ताव आदि के संबंध में विस्तृत जानकारी दी।
बैठक में पुलिस अधीक्षक डॉ. जितेन्द्र यादव, सीईओ जिला पंचायत श्री हेमंत रमेश नंदनवार, डीएफओ श्री रामाकृष्ण, उप निदेशक इन्द्रावती टाईगर रिजर्व श्री संदीप बल्गा सहित जिला स्तरीय वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
और भी

Jhutha Sach News

news in hindi

news india

news live

news today

today breaking news

latest news

Aaj ki taaza khabar

Jhootha Sach
Jhootha Sach News
Breaking news
Jhutha Sach news raipur in Chhattisgarh